पिछले 10 माह से जो कोरोना की वजह से लोगों ने झेला है वह कई पीढ़ियों तक भुलाया नही जा सकेगा। लेकिन इस बीच कुछ ऐसे लोग भी मिले जिन्होंने अपनी जान की परवाह न करते हुए दिन रात सेवाएं दी हैं, उनको भी वर्षों तक याद रखा जाएगा। कोरोना वारियर्स के नाम से लोगों की सेवा में तैनात चाहे हो राज्य के डॉक्टर हो या पुलिस कर्मी हो या चालक हो या सफाई कर्मी हो सब का विशेष योगदान रहा है ।

ऐसे ही एक वारियर हमारे पुलिस महकमें से हुए जिनको आज अंतर्राष्ट्रीय सम्मान से समानित किया गया । कोरोना काल में जिंदगी और मौत से जूझ रहे रोगियों तक दवाई पहुंचा कर उत्तराखंड पुलिस के एक जवान ने पूरे विश्व का ध्यान अपनी तरफ खींचा । अंतर्राष्ट्रीय सामाजिक संस्था ने उत्तराखंड पुलिस के इस जवान को शाइनिंग वर्ल्ड केयर सम्मान से सम्मानित किया है। यह जवान है उत्तराखंड पुलिस विभाग में फायरमैन के पद पर तैनात मनीष पंत हैं।

लॉकडाउन के वक्त मनीष पंत ने दुर्गम क्षेत्रों तक न सिर्फ बीमार लोगों तक दवा पहुंचाई बल्कि जिन लोगों के पास पैसे नही थे उनको अपनी जेब से दवा पहुँचाई। मनीष के इस परोपकार से न सिर्फ लोगों को मदद मिली बल्कि कई जिंदगियों को उन्होंने मेडिकल सुविधाएं देकर बचा लिया। उनके इस असाधरण कार्य की पुलिस महकमे ने तारीफ की है। इस महान कार्य के लिए मनीष पंत को प्रशस्ति पत्र और प्रतीक चिन्ह सम्मान के 10000 यूएस डॉलर लगभग 7 से 7.5 लाख रुपये का नगद इनाम भी दिया गया है ।