उत्तराखंड समाचार: गणतंत्र दिवस को लेकर राज्य में किए गये हैं बड़े बदलाव, गैरसैंण में क्या रहेगा खास ।


उत्तराखंड में हर साल राज्य की शीतकालीन राजधानी में 26 जनवरी को परेड ग्राउंड में गणतंत्र दिवस को धूम धाम से मनाया जाता है। लेकिन इस वर्ष कोरोना की रोकथाम के मध्यनजर समारोह में बड़े बदलाव किए गये हैं। कोरोना के संक्रमण को देखते हुए कमजोर रोग प्रतिरोधक क्षमता वाले स्वतंत्रता सेनानी और अन्य व्यक्ति समारोह में शरीक नहीं होंगे। सेनानियों को मुख्यमंत्री की तरफ से विभिन्न मजिस्ट्रेट व जिला स्तरीय अधिकारी उनके घर पर जाकर ही सम्मानित करेंगे।

गणतंत्र दिवस के मुख्य समारोह की शुरुआत राज्यपाल सुबह 10.30 झंडारोहण कर करेंगे। इससे पूर्व विधानसभा, सचिवालय समेत सभी शासकीय मुख्यालयों, कार्यालयों में सुबह 9.30 पर ध्वजारोहण किया जाएगा। समारोह स्थल पर फ्रंटलाइन कोविड वर्करों को भी आमंत्रित किया जाएगा। वहीं, सांस्कृतिक कार्यक्रमों में सिर्फ संस्कृति विभाग की ओर से संक्षिप्त कार्यक्रम प्रदर्शित किया जाएगा। रैतिक परेड में पुलिस के साथ सेना और होमगार्ड के जवान भी शिरकत करेंगे।

शीतकालीन राजधानी में परेड ग्राउंड में होने वाले मुख्य समारोह में अधिकतम एक हजार व्यक्तियों को ही प्रवेश की अनुमति मिलेगी। समारोह में शरीक होने के इच्छुक व्यक्तियों को पूर्व में ऑनलाइन अनुमति प्राप्त करनी होगी। गणतंत्र दिवस के मुख्य कार्यक्रम में शरीक होने के लिए आमजन https://dehradun.nic.in/ वेबसाइट पर जाकर पंजीकरण कराएंगे। पंजीकरण की प्रति समारोह स्थल के प्रवेश मार्ग पर दिखानी होगी।

वहीं दूसरी तरफ राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी की बात करें तो अभी सरकार की तरफ से किसी प्रकार की खबर सामने नही आई है। लेकिन राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी होने के नाते स्थानीय प्रशासन राज्य की ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में ध्वाजारोहण करेगा। ग्रीष्मकालीन राजधानी में पुलिस चौकी और अन्य कार्य निर्माणाधीन चल रहें है, सम्भवतः मुख्यमंत्री रावत जल्द ही गैरसैंण का दौरा करेंगे।

 हमारा "पहाड़ समीक्षा" समाचार मोबाइल एप्प प्राप्त करें ।



उत्तराखंड - ताजा समाचार

यहां उत्तराखंड राज्य के बारे में विभन्न जानकारियां साँझा की जाती है। जिसमें नौकरी,अध्ययन,प्रमुख समाचार,पर्यटन, मन्दिर, पिछले वर्षों के परीक्षा प्रश्नपत्र, ऑनलाइन सहायता,पौराणिक कथाएं व रीति-रिवाज और गढ़वाली कविताएं इत्यादि सम्मिलित हैं। जो हर प्रकार से पाठकों के लिए उपयोगी है ।