भारत और ऑस्ट्रेलिया के बीच चल रहे टेस्ट मैच में ऋषभ पंत ने कुछ ऐसा करडाला की 72 साल पुराना रिकॉर्ड टूट गया। भारत औरऑस्ट्रेलिया के बीच सिडनी में खेले जा रहे तीसरे टेस्ट मैच में ऋषभ पंत ने अन्य खिलाड़ियों के साथ मिलकर पूरी बाजी ही पलट दी। सोशल मीडिया पर भी ऋषभ पंत की तारीफ में मीम्स की बाढ़ आ गई है। कोई उन्हें टीम इंडिया का पार लगाने वाला कह रहा है तो कोई सुपरमैन । दरअसल चोटिल होने के बावजूद ऋषभ पंत ने वह कारनामा कर दिखया कि लोग उनकी परफॉर्मेंस के कायल हो गये हैं।

तीसरे टेस्ट मैच के दूसरे दिन जब रहाणे का विकेट गिरा तो भारतीय टीम दबाव में आ गई। रहाणे के विकेट के बाद ऋषभ पंत को बैटिंग के लिए भेजा गया। फिर क्या था, ऋषभ पंतकप्तान की उम्मीदों पर खरे उतरे हालांकि ऋषभ शतक बनाने से चूक गये लेकिन मुश्किल में फँसी पारी को बाहर निकालने में कामयाब रहे। यह मैच तो ड्रॉ हो गया लेकिन सीरीज अब भी 1-1 से बराबरी पर है। आउट होने से पहले पहले विकेटकीपर बल्लेबाज ऋषभ पंत ने 118 गेंदों में 12 चौके और तीन छक्के की मदद से 97 रन बनाए।

टूट गया 72 वर्ष पुराना रिकॉर्ड। पंत और पुजारा ने भारत की तरफ से ऑस्ट्रेलिया में चौथी पारी में चौथे विकेट के लिए सबसे बड़ी साझेदारी का रिकॉर्ड अपने नाम किया। इससे पहले यह रिकॉर्ड विजय हजारे और रूसी मोदी की साझेदारी के नाम था। विजय हजारे और रूसी मोदी ने वर्ष 1949 में 139 रन बनाए थे।