उत्तराखंड में शिक्षा को लेकर हर दिन चौंकाने वाले खुलासे हो रहे हैं। लगभग आठ माह से अधिक समयान्तर के बाद जब बच्चों की परीक्षाएं हुई तो नतीजे चौकाने वाले मिले। हालांकि छात्र इसका विरोध करने लगे हैं। देखा जाय तो बीए जैसे विषय में इतना प्रतिशत परीक्षा परिणाम फेल इससे पहले शायद ही कभी रहा हो। श्रीदेव सुमन विवि के बीए तृतीय सेमेस्टर के परीक्षाफल में भारी अनियमितता सामने आई है। बीए तृतीय सेमेस्टर के करीब 80 फीसदी छात्र-छात्राओं को अनुत्तीर्ण किया गया है।

श्रीदेव सुमन विवि के गोपेश्वर परिसर में बीए तृतीय सेमेस्टर की छात्रा खुशी, संतोषी, ज्योति, चंदा और संगीता ने कहा कि सेमेस्टर के करीब 80 फीसदी छात्र-छात्राओं को अनुत्तीर्ण किया गया है। सभी ने परीक्षा दी थी लेकिन लेकिन भूगोल, गृहविज्ञान जैसे विषयों में अंक दर्शाने के बजाय एक्स-एक्स अंकित कर अनुत्तीर्ण किया गया है। इससे पहले प्रथम और दूसरे सेमेस्टर के परीक्षाफल में भी ऐसी ही अनियमितता पाई गई थीं।

गौरतलब है कि इतनी संख्या में छात्र-छात्राओं का फेल होना निराशाजनक भी है और चिंताजनक भी। इसलिए छात्रों में विश्विद्यालय के खिलाफ आक्रोश है। अब मामले को तूल पकड़ता देख प्राचार्य प्रो. आरके गुप्ता ने कहा कि यह विवि स्तर का मामला है। छात्रों की ओर से शिकायत मिलने पर विवि प्रशासन को भेज दिया जाएगा। यदि अधिकांश छात्रों के रिजस्ट में गलतियां हैं, तो महाविद्यालय स्तर से भी पत्राचार किया जाएगा।