टिहरी जिले के चंबा ब्लॉक में तैनात कार्यरत महिला जेई ने ब्लॉक प्रमुख के पति मानवेंद्र बिष्ट पर कार्यालय में आकर आभद्रता का आरोप लगाया है। महिला अभियंता का कहना है कि उनके ऊपर जबरन गलत एमबी बनाने का दबाव बनाया जा रहा था। जिससे महिला अभियंता ने इनकार कर दिया। आरोप है कि इसी बात को लेकर ब्लॉक प्रमुख के पति ने महिला जेई से आभद्रता वाला बर्ताव किया ।


अपने बचाव में ब्लॉक प्रमुख के पति का कहना है कि जब ब्लॉक प्रमुख अभियंता महिला को फोन करती हैं तो वह फोन नही उठती हैं। उनकी कार्यशैली सही नहीं है। काफी समय से उन्हें एमबी बनाने के लिए बोला जा रहा था, लेकिन उन्होंने उसमें देर की। दूसरी तरफ महिला अभियंता ने प्रमुख के पति के खिलाफ कार्रवाई करने की मांग की है। खंड विकास अधिकारी डीएस रावत ने कहा कि मामला उनके संज्ञान में है। दोनों पक्षों को वार्ता के लिए बुलाया गया है।


इस इस मामले में चंबा के ज्येष्ठ प्रमुख संजय मैठाणी ने कहा कि ब्लॉक प्रमुख के पति इस तरह कम धनराशि के काम के लिए ज्यादा धनराशि की एमबी बनाने का दबाव एक महिला अभियंता पर बनाया जा रहा है, जो सही नहीं है। सभी सदस्य इसका विरोध करते हैं। ब्लॉक कार्यालय में इस तरह का हस्तक्षेप बर्दाश्त नहीं किया जाएगा। उनका कहना है कि किसी भी महिला जनप्रतिनिधि का ब्लॉक कार्यालय में आना प्रतिबंधित किया जाए।


पत्नी के ब्लॉक प्रमुख होने पर पति का हस्तक्षेप करना कहाँ सही है। अगर पत्नी में ब्लॉक प्रमुख की काबिलियत नही है और वह स्वयं कार्य करवाने में समर्थ नही हैं तो पद से स्तीफा दें लेकिन इस प्रकार से महिला अभियंता से पति द्वारा ब्लॉक में गलत कार्य करवाने के लिए आभद्रता पर उतर आएं यह कार्य केवल राजनीति के श्रेय में ही हो सकता है। ज्येष्ठ प्रमुख संजय मैठाणी का कहना है कि ब्लॉक प्रमुख के पति का हस्तक्षेप ब्लॉक कार्यालय में बहुत बढ़ गया है, जिसे बंद किया जाए।