गढ़वाल में एक कहावत प्रचलित है "नशा खो बल बिराणी मौ अर गुस्सा खो अपणी मौ" इसका अर्थ है कि नशा दूसरे के लिए घतक होता है लेकिन क्रोध स्वयं के नाश का कारण बन जाता है। ऐसी ही घटना टिहरी जिले से प्रकाश में आई है जहां मामूली सी कहासुनी पर पति ने पत्नी को जान से मार डाला। घनसाली थानांतर्गत नेलचामी पट्टी के थार्ती गावं में एक पति ने अपनी पत्नी की हत्या कर दी। सूचना मिलने के बाद पुलिस मौके पर पहुचीं। पुलिस ने आरोपी को गिरफ्तार कर लिया है। घटना के बाद से गांव में मातम पसरा हुआ है।

प्राप्त जानकारी के अनुसार, गुरुवार सुबह थारती गांव के महड़ तोक निवासी 33 वर्षीय विक्रम सिंह पुत्र रूपचंद की सुबह करीब नौ बजे अपनी पत्नी शशि देवी उम्र 27 वर्ष से किसी बात पर बहस हो गई। देखते ही देखते उसने गुस्से में आकर अपनी पत्नी पर चाकू से कई बार वार कर दिया। जिसके बाद पत्नी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। आरोपी की शादी 2016 में हुई थी। उसका तीन साल का एक बेटा है।

कहासुनी की वजह लॉकडाउन बना, युवक लॉकडाउन से पहले होटल में काम करता था लेकिन मार्च में कोरोना के चलते युवक नौकरी छोड़ गाँव वापस लौट गया। और उसके बाद से युवक घर पर ही था। पिछले पांच-सात माह से घर पर रहने से पति पत्नी के बीच आपसी विवाद बढ़ने लगे। गुरुवार को विवाद इतना बढ़ गया कि युवक आपे से बाहर हो गया और उसने पास में रखे चाकू से पत्नी पर कई वार कर दिए जिससे पत्नी ने मौके पर ही दम तोड़ दिया। घटना की सूचना पर एसओ कुलदीप शाह टीम के साथ मौके पर पहुंचे। मामले की जांच की जा रही है।