ग्रीष्मकालीन राजधानी गैरसैंण में विधानसभा का बजट सत्र एक से नौ मार्च तक होगा। मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार को पत्रकारों से अनौपचारिक बातचीत में यह जानकारी दी। इसके साथ ही बजट सत्र की तिथि को लेकर चला आ भ्रम भी खत्म हो गया। पूर्व में मुख्यमंत्री द्वारा गैरसैंण में सत्र आयोजित करने की घोषणा की थी जो अब लगभग तय हो गया है। गैरसैण को ग्रीष्मकालीन राजधानी घोषित करने के बाद मुख्यमंत्री त्रिवेंद्र सिंह रावत ने सोमवार एक और बड़ी घोषणा की है।

सीएम रावत ने कहा कि प्रदेश में आइआरबी की नई कंपनी का गठन होगा, जिसकी तैनाती गैरसैंण में होगी। उत्तराखंड में अभी आइआरबी की दो कंपनियां हैं, जिसमे से एक हरिद्वार व एक रामनगर (बैलपड़ाव) में तैनात है। यह पहली कंपनी होगी, जोकि पहाड़ी जिले में तैनात होगी। कंपनी में 900 पुलिस अधिकारी व कर्मचारी होंगे। प्रदेश में पांच पुलिस लाइनों का उच्चीकरण किया जाएगा, इनमें पौड़ी, चमोली, उत्तरकाशी, अल्मोड़ा और पिथौरागढ़ शामिल हैं। इन पुलिस लाइनों की हालत काफी खराब है। यहां पर मूलभूत सुविधाओं को बढ़ाया जाएगा।

मुख्यमंत्री ने कहा कि पिछले तीन साल से पुलिस विभाग में काम कर रहे स्टूडेंट पुलिस को भी जल्द वर्दी उपलब्ध होगी। मुख्यमंत्री ने कहा कि हाईवे पेट्रोलिंग के लिए पुलिस को नए वाहन उपलब्ध कराए जाएंगे। मुख्यमंत्री ने कहा कि जल्द ही पुलिस को नया मुख्यालय का भवन भी मिलेगा, इसके लिए जल्द जगह फाइनल कर दी जाएगी। उन्होंने बताया कि पुलिस को अब हेली सेवा की सुविधा भी मिल पाएगी। एक साल में पुलिस हेली सेवा का इस्तेमाल 100 घंटे कर सकेगी। इसका इस्तेमाल आपात स्थिति में किया जा सकेगा।