इन दिनों कंगना रनौत सोशल मीडिया में खूब छाई हुई हैं। हाल ही में उन्होंने खुद को सबसे बेहतरीन अभिनेत्री बताया तो ट्वीटर पर उनका काफी विरोध हुआ। वह खुद को हॉलीवुड की अभिनेत्रियों से तुलना कर रही थी तो एक यूजर ने रिट्वीट कर कहा कि आप उदाहरण बॉलीवुड से ही दीजिए और यहाँ भी आपसे बेहतरीन अभिनेत्रियां कई हैं। कंगना महाराष्ट्र में कांग्रेस की सरकार के आने के बाद तल्ख तेवर इख्तियार किए हुए है। दिन प्रति दिन की उनकी बयानबाजी को देखकर लगता है उनका मन राजनीति में आने का है। इसलिए वह इशारों ही इशारों में गाये बजाए पीएम मोदी से आग्रह करती रहती है तो कभी सलाह देती नजर आती हैं।

हाल ही में उन्होंने एक ऐसा ट्वीट किया है जिससे कॉन्ट्रोवर्सी पैदा हो गई है। दरअसल कंगना रनौत ने ट्विटर पर लिखा,' माननीय प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, जो गलती पृथ्वीराज चौहान ने की थी वो बिलकुल मत करना, उस गलती का नाम था माफी। ट्विटर कितनी भी माफी मांगे बिलकुल माफ मत करना। वे भारत में गृह युद्ध के लिए साजिश रच रहे।' अपने ट्वीट के साथ ही कंगना ने #BanTwitterInIndia का भी इस्तेमाल किया है। याद दिला दें कि इससे पहले कंगना ने ट्विटर छोड़कर कू ऐप पर शिफ्ट की बात भी कही थी।

आपको बता दें कि twitter अपने आप में बहुत बड़ा और प्रसिद्ध प्लेट फॉर्म बन चुका है। स्वाभाविक है कि अगर twitter भारत से बन्द होता है तो twitter निर्माता देश भारतीय app पर भी अपने देश में प्रतिबंध लगा देगा। इस लिए कंगना ने बिना सोचे अपनी राय कैसे रखी ये तो वही जाने। फिलहाल twitter और भारत सरकार में किसान आंदोलन में हो रहे प्रचार को लेकर ठनी हुई है। गौरतलब है कि भारत सभी सोशल एप्प के एक बहुत बड़ा बाजार नजर आता है, ऐसे में twitter भी अपनी भिड़ंत को ज्यादा देर तक सरकार के सामने रख नही पाएगा। हाँ, मामला अगर अंतरराष्ट्रीय कोर्ट तक पहुंच जाए तो शायद है कि twitter सरकार के सामने टिक सके।

वहीं खबर ये भी है कि कंगना अपनी आने वाली फ़िल्म का प्रचार प्रसार में twitter की मदद ले रहीं है। सूत्रों के हवाले से खबर है कि मध्यप्रदेश कांग्रेस से कंगना का मध्यप्रदेश में विरोध किया है। जिसकी वजह है उनका किसान विरोधी ट्वीट। आपको बता दें कि किसान आंदोलन के चलते कंगना ने कई पंजाबी गायकों और कलाकारों को भी निशाने पर लिया था। जिसके बाद कंगना का काफी विरोध भी हुआ था। अब कंगना चाहती क्या हैं ये तो कंगना ही जाने लेकिन सुशांत की मौत के बाद से कंगना लगातार उग्र हैं, हालांकि बीजेपी ने भी सुशांत की मौत को मुद्दा बनाया और सच तक पहुंचने से पहले ही मामला फीका पड़ गया