उत्तराखंड समाचार: राज्य में 45 साल से अधिक आयु वर्ग का टीकाकरण वैक्सीन के अभाव में रोक दिया गया था। प्राप्त वैक्सीन न होने के कारण लोग वैक्सिनेशन सेंटरों से मायूस घर लौट रहे थे। लेकिन अब 45 साल से अधिक आयु के लोगों के वैक्सिनेशन का इन्तजान हो गया है। हालांकि यह कितनी देर तक चलेगा यह कुछ कहा नही जा सकता है क्योंकि केंद्र ने राज्य को महज 01 लाख वैक्सीन की खेप भेजी है। इस में अधिकांश लोगों को दूसरी डोज लगनी है जबकि आधी 45 साल वाली आवादी ने अभी पहली डोज भी ग्रहण नही की है।

वैक्सीन का स्टॉक सीमित होने के कारण 45 साल से अधिक के व्यक्तियों के टीकाकरण की रफ्तार मंद पड़ गई थी। इस आयुवर्ग का टीकाकरण कुछेक ही केंद्रों पर किया जा रहा था। पिछले काफी वक्त से केंद्र से वैक्सीन आने का इंतजार किया जा रहा था। शुक्रवार को वैक्सीन पहुंचने के बाद स्वास्थ्य विभाग ने भी राहत की सांस ली है। बता दें कि इस आयुवर्ग की वैक्सीन राज्यों को नि:शुल्क मिल रही है। 

18-45 साल वालों के लिए वैक्सीन राज्य को खुद खरीदनी है। इसके लिए जल्द 1.20 लाख वैक्सीन इस आयुवर्ग के लिए भी पहुंचने की संभावना है। दूसरी तरफ राज्य ने वैक्सीन की खरीद का ग्लोबल टेंडर भी किया है। ये टेंडर 24 मई को खुलेगा। प्रदेश में अब तक 20,77,722 व्यक्तियों को वैक्सीन की पहली खुराक लग चुकी है। वहीं 6,80,831 व्यक्तियों का पूर्ण टीकाकरण हो चुका है। 18 साल से अधिक उम्र के भी 2,03,480 व्यक्तियों को टीका लग चुका है।