श्रीनगर गढ़वाल: बेस अस्पताल के मृतक रुद्रप्रयाग के उखीमठ,मक्कूमठ दुर्गाधार और पौड़ी के निसनी तथा श्रीकोट श्रीनगर के निवासी थे। हस्पताल में सुविधाओ के हिसाब से भार बहुत ज्यादा है। ऐसे में आए दिन मौतें हो रही हैं, ये केवल वह आंकड़े हैं जो हस्पताल दिखा रहें हैं, जबकि सूत्रों की माने तो हर दिन 14 से 15 मौतें कोरोना की वजह से हो रही हैं। बेस अस्पताल श्रीनगर में सात कोरोना रोगियों ने इलाज के दौरान दम तोड़ दिया है, जबकि चमोली जिले में दो संक्रमितों की मौत हो गई है। पुलिस और एसडीआरएफ के सहयोग से दोनों का अंतिम संस्कार किया गया।  

बेस अस्पताल के कोरोना वार्ड में 137 कोरोना पॉजिटिव,53 कोरोना संदिग्ध रोगी भर्ती हैं ,जिनमें 98 कोरोना पॉजिटिव और 37 कोरोना संदिग्ध का इलाज ऑक्सीजन सपोर्ट से किया जा रहा है । श्रीनगर क्षेत्र में शनिवार को डाग, श्रीकोट,कमलेश्वर, भक्तियाना,नर्सरी रोड क्षेत्र में 69 कोरोना पॉजिटिव मिले।  

उधर चमोली जिले के कर्णप्रयाग उपजिला चिकित्सालय के डॉ. मनोज मिश्रा ने बताया शनिवार को सूचना मिली कि गौचर में होम आइसोलेशन में रह रहे युवक की तबियत खराब हो रही है जिसपर आकस्मिक सेवा वाहन को मौके पर भेजने की तैयारी की जा रही थी,लेकिन इस बीच सूचना मिली कि संक्रमित ने होम आइसोलेशन में अंतिम सांस ली। संक्रमित का रेपिड टेस्ट 10 मई को गौचर में लिया था, तब से संक्रमित होम आइसोलेशन में था। संक्रमित के शव का पुलिस व एसडीआरएफ की टीम ने स्वजन की मौजुदगी में अंतिम संस्कार किया।