चमोली जिले में लगातार बढ़ रहे कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने 6 से 9 मई तक सुबह 5 बजे तक जिले के समस्त नगर पालिका और नगर पंचायत के साथ ही ब्लाक घाट, देवाल और नारायणबगड़ क्षेत्र में कर्फ्यू लगा दिया है। इन क्षेत्रों में आवश्यक वस्तुओं को छोड़कर बाजार पूर्ण रूप से बंद रहेंगे। जिलाधिकारी स्वाति एस भदौरिया ने इस संबंध में आदेश जारी किया है। आदेशों के उल्लंघन की स्थिति में संबंधित के विरुद्ध कार्यवाही की जाएगी। बाजार बंद के दौरान मेडिकल स्टोर की दुकानें पूर्ण समय तक खुली रहेंगी और आवश्यक वस्तुओं की दुकानें दोपहर दो बजे तक खुली रहेंगी।

सोमवार को सीएचसी थराली में कोरोना संक्रमित ढाई माह की एक बच्ची की मौत हो गई थी। थराली अस्पताल में मौत का यह पहला मामला है। उधर, चौंडली गांव में भी एक संक्रमित की भी मौत हुई थी। सीएचसी प्रभारी डॉ. पूनम टम्टा ने बताया कि आलकोट के दंपती अपनी ढाई माह की बच्ची को लेकर आए। बच्ची टेस्ट किया गया, जिसमें वह कोरोना संक्रमित मिली। इलाज के दौरान ही उसने दम तोड़ दिया। बताया जा रहा है कि बच्ची की दादी भी कोरोना संक्रमित थी।

उत्तराखंड सरकार के कर्फ्यू लगाने के बाद भी कुछ जिलों में मामले तेजी से बढ़ रहे हैं। ऐसे में सरकार कर्फ्यू को आगे तो बढ़ा रही है लेकिन अब सरकार भी चिंतित है कि कर्फ्यू से कोई फायदा होता नजर नही आ रहा है। जैसा की पहाड़ समीक्षा समाचार ने पहले ही अंदेशा जताया है कि आने वाले सप्ताह में राज्य में लॉक डाउन की घोषणा हो सकती है, इसकी अब प्रबल सम्भावनाएं बढ़ रही हैं। क्योंकि इसके अलावा संक्रमण को कम करने का कोई दूसरा रास्ता नही है।