उत्तराखंड पुलिस कोरोना के इस दौर में बहुत सक्रिय नजर आई। कोरोना की दूसरी लहर में पुलिस ने जनता का भरपूर सहयोग किया। हालांकि, जिन लोगों ने कोविड नियमों का उलंघन किया, उसने पुलिस में जुर्माना भी वसूला लेकिन यह जनहित में लिए गये फैसले के तहत ही किया गया। पुलिस न अपने कर्तव्य का बखूबी निर्वहन किया और लोगों व सरकार दोनों की बखूबी मदद कर अपने कौशल और निष्ठा कर परिचय दिया। यह सब मुमकिन हुआ डीजीपी अशोक कुमार के कुशल नेतृत्व की बदौलत। उत्तराखंड पुलिस की धूमिल होती छवि को डीजीपी ने फिर से एक नए आयाम तक ला खड़ा किया, इसके लिए उनकी कार्य प्रणाली की भी सराहना हो रही है।

उत्तराखंड पुलिस ने हर प्रकार से राज्य का भरपूर सहयोग किया और अब एक दिन का वेतन स्वेच्छा से छोड़कर मुख्यमंत्री राहत कोष में दान देकर यह भी साबित कर दिया कि जरूरत पड़ने पर वह भी राज्य के साथ खड़ें हैं। इस निर्णय के बाद डीजीपी अशोक कुमार ने मुख्यमंत्री तीरथ सिंह रावत को 85,95,350 का चैक सौंपा। इस अवसर एडीजी पीएसी पीवीके प्रसाद, एडीजी प्रशासन अभिनव कुमार एवं आईजी कार्मिक पुष्पक ज्योति भी मौजूद थे।