उत्तराखंड समाचार: मेजर विभूति शंकर ढोंडियाल, जिन्हें एससी (पी) से सम्मानित किया गया था, फरवरी 2019 में जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में जैश-ए-मोहम्मद के आतंकवादियों के साथ मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। आज उनकी पत्नी नितिका ढोंडियाल भारतीय सेना में शामिल हो गई हैं।  सेना में शामिल होने के बाद अब नितिका ढोंडियाल 'लेफ्टिनेंट' बन गई हैं।  नितिका ने आज भारतीय फ़ार्स की वर्दी पहनी और शहीद मेजर विभूति शंकर को श्रद्धांजलि दी।

मेजर ढोंडियाल 18 फरवरी, 2019 को जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में एक मुठभेड़ में शहीद हो गए थे। 14 फरवरी, 2019 को पुलवामा में सीआरपीएफ के एक काफिले पर आतंकवादी हमला हुआ था। इस हमले के बाद ही सेना ने पुलवामा के पिंगलान गांव में आतंकियों को ढेर करने के लिए ऑपरेशन शुरू किया था। पिंगलान में मुठभेड़ में चार जवान शहीद हो गए। शहीदों में मेजर रैंक ऑफिसर विभूति ढोंढियाल भी शामिल थे।

मेजर ढोंढियाल और नितिका की शादी को केवल 10 महीने ही हुए थे और 01 अप्रैल 2019 को शादी की सालगिरह थी। नितिका ने अपने पति को एक बहादुर जांबाज के रूप में वर्णित किया था और कहा था कि उन्हें विश्वास था कि उनके पति की शहादत और अधिक लोगों को सेना में शामिल होने के लिए प्रेरित करेगी।  मेजर ढोंढियाल की शहादत के बाद जब उनका पार्थिव शरीर उनके गृहनगर पहुंचा, तो मेजर ढोंढियाल के शव के पास खड़ी नितिका ने पति को प्रणाम किया।  नितिका ने कहा, तुमने मुझसे झूठ बोला था कि तुम मुझसे प्यार करते हो।  आप मुझसे ज्यादा मेरे देश से प्यार करते थे और मुझे इस पर गर्व है।