नई दिल्ली: कोरोना महामारी के दौरान अनाथ बच्चों के लिए राहत की खबर आई है।  दरअसल, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बड़ा ऐलान किया है कि जिन बच्चों के माता-पिता या अभिभावक दोनों को कोरोना के कारण खो दिया है, उन्हें 'पीएम-केयर्स फॉर चिल्ड्रन' योजना के तहत मदद की जाएगी।  ऐसे बच्चों को 18 साल की उम्र में मासिक वजीफा और 23 साल की उम्र में पीएम केयर्स की ओर से 10 लाख रुपये का फंड मिलेगा।  पीएमओ ने इस बात की जानकारी दी है।

पीएमओ ने कहा कि इन बच्चों की मुफ्त शिक्षा भी सुनिश्चित की जाएगी। उच्च शिक्षा के लिए शिक्षा ऋण प्राप्त करने में बच्चों की सहायता की जाएगी और इस ऋण पर ब्याज का भुगतान पीएम केयर्स फंड से किया जाएगा।  इसके अलावा आयुष्मान भारत योजना के तहत 18 साल तक के बच्चों को 5 लाख रुपये का मुफ्त स्वास्थ्य बीमा मिलेगा और प्रीमियम का भुगतान पीएम केयर्स फंड करेगा।

इस घोषणा के दौरान पीएम मोदी ने कहा कि बच्चे देश के भविष्य का प्रतिनिधित्व करते हैं और हम बच्चों के समर्थन और सुरक्षा के लिए सब कुछ करेंगे। उन्होंने कहा कि एक समाज के रूप में यह हमारा कर्तव्य है कि हम अपने बच्चों की देखभाल करें और उज्ज्वल भविष्य की आशा जगाएं।