सार्वजनिक परिवहन के संचालन को लेकर परिवहन विभाग ने एसओपी जारी कर दी है। इसके मुताबिक राज्य के अंदर और अंतरराज्यीय मार्गों पर पचास फीसद यात्री क्षमता के साथ ही वाहनों को संचालन की अनुमति होगी।  वाहन संचालकों को निर्देश जारी किया गया है कि किराया तय सीमा के अंतर्गत ही लिया जाएगा। अतिरिक्त किराया वसूलने वाले वाहन चालकों के खिलाफ दंडात्मक कारवाई की जाएगी।

अंतरराज्यीय और अंतर जनपदीय यात्रा करने की स्थिति में वाहन में प्रवेश करने वाले हर यात्री की थर्मल स्केनिंग के साथ ही हैंड सैनिटाइजर की व्यवस्था की जाएगी। इसके अलावा वाहन चालक, परिचालक और यात्रियों द्वारा सोशल डिस्टेंसिंग का पूरी तरह से पालन करना होगा।  वाहन को सवारी भरने से पहले और उतारने के बाद सैनिटाइज करना अनिवार्य होगा।