मौसम विज्ञान केंद्र ने 19 और 20 मई को देहरादून, टिहरी, उत्तरकाशी, चमोली, रुद्रप्रयाग, बागेश्वर, पिथौरागढ़ जैसे जिलों में भारी वर्षा और आकाशीय बिजली गिरने की संभावना का अलर्ट जारी किया है। जिलाधिकारी देहरादून डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने बताया कि मौसम विज्ञान विभाग की चेतावनी के मद्देनजर आपदा से जुड़े सभी विभागाध्यक्षों को संबंधित सेवाओं को चुस्त-दुरुस्त करने के निर्देश जारी किए गए हैं। अधिकारियों को आपसी समन्वय स्थापित करते हुए आपदा से जुड़ी तमाम तैयारियों को समय रहते पूरा करने की हिदायत दी गई है। इसके अलावा आपदा परिचालन केंद्र देहरादून को सभी सूचनाएं तत्काल मुहैया कराने के निर्देश दिए गए हैं। 

मौसम विज्ञान केंद्र की चेतावनी के मुताबिक राज्य के उत्तरकाशी, चमोली, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में कहीं-कहीं भारी वर्षा होने की संभावना है। राज्य के पर्वतीय क्षेत्रों में कुछ स्थानों पर गर्जना के साथ ही आकाशीय बिजली गिरने और तेज बौछार के साथ बारिश के आसार हैं। वीडियो कांफ्रेंसिंग के माध्यम से मानसून से पहले तैयारी और बाढ़ नियंत्रण कार्यों की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी डॉ. आशीष कुमार श्रीवास्तव ने इसके निर्देश दिए। उन्होंने सभी एसडीएम और सिंचाई विभाग, जल संस्थान, स्वास्थ्य विभाग, यूपीसीएल, खाद्य आपूर्ति, पुलिस, नगर निगम व पालिका, वन विभाग, लोक निर्माण विभाग, राष्ट्रीय राजमार्ग प्राधिकरण और प्रधानमंत्री ग्राम सड़क योजना से जुड़े अधिकारियों को मानसून से पहले योजनाओं का निरीक्षण करने के निर्देश दिए।

उन्होंने देहरादून व ऋषिकेश निगम और नगर पालिका परिषदों के प्रभारी अधिकारी बरसात से पहले अपने-अपने क्षेत्रों में सड़क व संपर्क मार्ग के किनारों और नालों व नालियों की साफ-सफाई सुनिश्चित करा लें। उन्होंने संभावित भूस्खलन वाले पहाड़ी क्षेत्रों में पर्याप्त जेसीबी तैनात करने की व्यवस्था बनाने को कहा। इसके अलावा जिले में दवाओं, मेडिकल स्टाफ, एंबुलेंस, खाद्यान्न का पर्याप्त स्टॉक रखने के भी निर्देश दिए।