देहरादून में मुख्यमंत्री ने 11 बजे वैक्सीनेशन का शुभारंभ किया। उन्होंने कहा कि कुछ लोग राजनीतिक द्वेष के चलते उनके खिलाफ माहौल बनाने का काम कर रहे हैं। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के व्यक्तियों के वैक्सीनेशन का काम शुरू हो चुका है। जो निर्बाध जारी रहेगा। सरकार कोरोना संक्रमण को नियंत्रण करने के लिए हर संभव प्रयास में जुटी है इसके लिए वैक्सीनेशन सबसे कारगर हथियार है उन्होंने सभी नागरिकों से वैक्सीनेशन करवाने की अपील की। ऋषिकेश के देहरादून मार्ग स्थित वैक्सीनेशन सेंटर में 11:15 बजे वैक्सीनेशन का कार्य शुरू हो पाया। विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने वैक्सीनेशन का शुभारंभ किया। इससे पूर्व प्रातः आठ बजे से वैक्सीनेशन के लिए पहुंचे युवाओं का गुस्सा भड़क गया। यहां मौजूद युवाओं व नागरिकों ने विधानसभा अध्यक्ष के खिलाफ जमकर नारेबाजी की।

सोमवार को 18 से 45 वर्ष आयु वर्ग के नागरिकों का वैक्सीनेशन शुरू होना था। जिसके लिए ऑनलाइन पोर्टल पर प्रात नौ बजे से वैक्सीनेशन का स्लॉट भी बुक किया गया था। मगर, ऋषिकेश स्थित वैक्सीनेशन सेंटर में नौ बजे से वैक्सीनेशन शुरू नहीं हो पाया। इसके पीछे पहले तो वैक्सीन उपलब्ध ना होने को कारण बताया गया। जिसके बाद वैक्सीनेशन के लिए पंजीकृत व्यक्तियों को क्लिप जारी की गई। इस बीच पता चला कि वैक्सीनेशन का काम विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल ने शुभारंभ करना है, जिससे नागरिकों का गुस्सा भड़क गया। प्रातः आठ बजे से वैक्सीनेशन के लिए लाइन में लगे नागरिकों का सब्र जवाब दे गया। करीब 11:15 बजे विधानसभा अध्यक्ष प्रेमचंद अग्रवाल जब वैक्सीनेशन सेंटर में पहुंचे तो नागरिकों ने उनके खिलाफ नारेबाजी शुरू कर दी। भारी विरोध के बीच विधानसभा अध्यक्ष ने वैक्सीनेशन का काम शुरू करवाया।