कोलकाता: पश्चिम बंगाल विधानसभा चुनाव में भारतीय जनता पार्टी (भाजपा) की हार के बाद पार्टी नेताओं में असंतोष देखने को मिल रहा है।  हाल ही में बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने एक फेसबुक पोस्ट किया था। उनके इस पोस्ट को देखने के बाद कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं। दरअसल, अपने पोस्ट में शुभ्रांशु ने कहा, 'पार्टी को ममता सरकार की आलोचना करना बंद कर आत्ममंथन करना चाहिए।  बीजेपी नेता मुकुल रॉय के बेटे शुभ्रांशु रॉय ने बीते शनिवार की रात एक फेसबुक पोस्ट लिखा था। इस पोस्ट में उन्होंने कहा, जनता के समर्थन से आई सरकार की आलोचना करने से पहले खुद को आत्ममंथन करने की जरूरत है। चुनी हुई सरकार की आलोचना करना बंद करो और आत्मनिरीक्षण करो।

शुभ्रांशु रॉय तृणमूल कांग्रेस छोड़कर 2019 में बीजेपी में शामिल हो गए। हाल के विधानसभा चुनाव में उन्होंने बीजेपी के टिकट पर बीजपुर विधानसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ा था लेकिन जीत नहीं पाए थे।  आप जानते ही होंगे कि हाल ही में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी चक्रवात यस से हुई तबाही का जायजा लेने बंगाल पहुंचे थे, जहां उन्होंने राज्य में समीक्षा बैठक भी की थी।  हालांकि, राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी 30 मिनट देरी से पहुंचीं और 20,000 करोड़ रुपये की सहायता की मांग की सूची के साथ जल्दी से दोपहर को रवाना हो गईं।

बीजेपी नेताओं ने ममता के काम को लेकर उन पर जमकर बरसे तो ममता बनर्जी ने भी सफाई दी। उन्होंने अपने स्पष्टीकरण में कहा, "यह जरूरी नहीं है कि हर बार एक मुख्यमंत्री प्रधानमंत्री की अगवानी के लिए आए"  उन्होंने कहा, मुझे वहां खुद (पीएम की बैठक में) इंतजार करना पड़ा। जब हम सागर पहुंचे, तो हमें जानकारी मिली कि हमें 20 मिनट और इंतजार करना होगा क्योंकि पीएम मोदी का हेलीकॉप्टर अभी उतरना बाकी था। उन्हें हमारे कार्यक्रम के बारे में पता था, फिर भी उन्होंने वही समय चुना।  हम रुके और हमने हेलीपैड पर उनका इंतजार किया।