जम्मू: केंद्र शासित प्रदेश जम्मू-कश्मीर में कोरोना के मामलों में कमी आने लगी है।  अमरनाथ यात्रा पर जाने वालों के लिए खुशी की बात है कि सेना ने भी अमरनाथ यात्रा की इजाजत दे दी है।  इसके अलावा, गांदरबल और अनंतनाग प्रशासन ने यात्रा व्यवस्था में शामिल सभी लोगों को जल्द से जल्द टीकाकरण कराने का निर्देश दिया है। 

इन घटनाक्रमों से अमरनाथ यात्रा शुरू होने की उम्मीद जगी है लेकिन राज्य सरकार और अमरनाथ यात्रा तीर्थ बोर्ड की ओर से अभी तक कोई संकेत नहीं दिया गया है।  हालांकि यह यात्रा 28 जून से शुरू होकर करीब दो महीने तक चलने वाली है।  यह सच है कि कोरोना की दूसरी लहर के चलते अमरनाथ यात्रा के लिए किसी भी रूट पर अभी तक व्यवस्था शुरू नहीं हो पाई है और  न ही यात्रा पंजीकरण किया गया है। आपको  बता दें कि पहले  5-6 दिनों के बाद यात्रा पंजीकरण बंद कर दिया गया था।

लेकिन अब सेना खुद अमरनाथ यात्रा के लिए तैयार है।  वहीं कश्मीर में अमरनाथ यात्रा के दौरान टेंट लगाने, लंगर लगाने और पिठू व खच्चरों की सेवा करने वालों को जल्द से जल्द टीका लगवाने के निर्देश जारी किए गए हैं। इन्हीं निर्देशों के पूर्ण होने के बाद अमरनाथ यात्रा शुरू होने की संभावना है