देश में पेट्रोल डीजल की बढोत्तरी को लेकर आज कांग्रेस ने राज्य के दोनों मंडलों में भाजपा की गलत नीतियों का जोरदार विरोध प्रदर्शन किया। पेट्रो पदार्थों के साथ ही खाद्य तेल व अन्य जरूरी वस्तुओं की कीमतों में उछाल पर कांग्रेसियों में उबाल आ गया। कार्यकर्ताओं ने राज्य व केंद्र सरकार के खिलाफ पेट्रोल पंपोंपर प्रदर्शन कर आमजन के शोषण का आरोप लगाया। कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि सत्ता की हनक मेें मोदी सरकार आम आदमी को महंगाई की आग में झुलसाने पर आमादा है। पेट्रो पदार्थ ही नहीं रसोई गैस से लेकर रोजमरदा की जरूरत की चीजों के दाम भी आसमान छूने लगे हैं।



रानीखेत में  कांग्रेसियों ने सत्तापक्ष के खिलाफ नारेबाजी कर प्रदर्शन किया। कार्यकर्ताओं ने कहा कि डबल इंजन सरकार महंगाई ही नहीं बेरोजगारी, भ्रष्टाचार व विकास आदि मुद्दों पर भी विफल साबित हो रही है। उन्होंने पेट्रो पदार्थों की मूल्यवृद्धि जल्द वापस लिए जाने की मांग उठाई। ऋषिकेश महानगर कांग्रेस कमेटी ऋषिकेश ने शुक्रवार को नगर अध्यक्ष महंत विनय सारस्वत के नेतृत्व मे देहरादून रोड स्थित पेट्रो-डीजल पंप के बाहर धरना-प्रदर्शन किया। उन्होंने कहा कि मोदी सरकार लगातार जनता का शोषण कर रही है, देश में पेट्रोल-डीजल के दाम आसमान छू रहे हैं। दाम बढ़ने से हर चीज महंगी होती जा रही है। मोदी सरकार अपने मित्र अंबानी को लाभ पहुचाने के लिए यह कृत्य कर रही है। प्रदेश सचिव मदन मोहन शर्मा ने कहा कि मोदी सरकार जनता को लूटने का कोई अवसर नही छोड़ती।



ऋषिकेश में कांग्रसी कार्यकर्ताओं ने आरोप लगाया कि नेपाली फार्म वाला टोल प्लाजा भी नियम विरुद्ध लगाने का प्रयास किया जा रहा है। प्रदेश महामंत्री राजपाल खरोला ने कहा कि केंद्र सरकार हर मोर्चे पर फेल रही है, चाहे वो कोरोना हो या पेट्रोल डीजल हो। उन्होंने कहा कि देश की जनता सब कुछ समझ चुकी है आने वाले समय में जनता भाजपा को उसकी तानाशाही का जवाब देगी। नरेंद्र नगर विधानसभा में जिलाध्यक्ष हिमांशु बिजल्वाण के नेतृत्व कार्यकर्ताओं ने रिलाइंस पेट्रोल पंंप, तपोवन पेट्रोल पंप व शिवपुरी पेट्रोल पम्प पर धरना-प्रदर्शन किया।



कुछ ऐसी ही तस्वीर नैनीताल जिले से भी सामने आई। शुक्रवार को महिला कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व पूर्व विधायक सरिता आर्य के नेतृत्व में कांग्रेसी तल्लीताल पेट्रोल पंप पर जमा हुए और मूल्य बढ़ोतरी वापस लेने के पक्ष में तथा मोदी सरकार के खिलाफ जमकर नारेबाजी की। वक्ताओं ने कहा कि भाजपा राज में महंगाई ने आम आदमी का जीना मुश्किल कर दिया है। महामारी काल में आर्थिक दिक्कतें झेल रहे लोगों को महंगाई ने दोराहे पर खड़ा कर दिया है। महंगाई कम करने के वादे पर सत्ता में आई मोदी सरकार ने आम आदमी की जेब पर डाका डाला है। कार्यकर्ताओं ने कहा कि अंतरराष्ट्रीय स्तर पर कच्चे तेल के दामों में कमी के बाद भी देश में आये दिन पेट्रोल डीजल आदि के दाम बढ़ा रही है। आम आदमी की रोजमर्रा की जरूरत पूरी करने की चीजें पहुंच से बाहर हो गई। उन्होंने कहा 2022 में जनता भाजपा सरकार द्वारा बढ़ाई गई महंगाई का एक एक पाई के हिसाब लेगी।