भाजपा महिला मोर्चा की नेता रीना गोयल व बेटों को शनिवार देर रात गिरफ्तार किया। आरोप है कि भाजपा महिला मोर्चा की नेता रीना गोयल ने क्लेमेनटाउन थाना क्षेत्र में संपत्ति में घुसकर कब्जा और शांति भंग की कोशिश की। उन पर आरोप लगा कि सुभाष नगर में रहने वाले बुजुर्ग मित्तल दम्पत्ति की कोरोना काल में मृत्यु हो गई और उनका कोई वारिस भी नही है इसलिए भाजपा महिला मोर्चा की नेता रीना गोयल ने सम्पत्ति पर कब्जे का प्रयास किया।

एसपी सिटी सरिता डोबाल ने बताया कि सुभाष नगर में बुजुर्ग दंपती डीके मित्तल व उनकी पत्‍नी सुशीला मित्तल निवास करते थे। कोरोना के कारण दंपती की मई महीने में मृत्यु हो गई। दंपती की मृत्यु के पश्चात उनका कोई वारिस नहीं है। उनके एक रिश्तेदार सुरेश महाजन जो कि अमेरिका में रहते हैं, ने कुछ दिन पहले क्लेमेनटाउन थाना पुलिस को फोन कर संपत्ति को सील करने का आग्रह किया, ताकि संपत्ति सुरक्षित रहे। शनिवार को भाजपा नेता रीना गोयल अपने दो बेटों और 60-70 व्यक्तियों के साथ प्लाट में घुस गई और वहां पर हवन पूजन शुरू कर दिया।

इसकी सूचना जब सुरेश महाजन को मिली तो उन्‍होंने ईमेल के जरिये क्लेमेनटाउन थाना पुलिस को सूचना दी कि आरोपित डीके मित्तल की संपत्ति में घुसकर कब्जा करने की कोशिश कर रहे हैं। रीना गोयल ने संपत्ति पर कब्जा करने की नीयत से संपत्ति के बाहर डीके मित्तल व सुशीला मित्तल के नाम से चेरिटेबल ट्रस्ट का बोर्ड लगा दिया। सूचना मिलते ही क्लेमेनटाउन थाना पुलिस मौके पर पहुंची। पुलिस ने बोर्ड व अन्य सामग्री को कब्जे में लेकर रीना गोयल, उनके बेटे लव्य गोयल, ऋषभ निवासी टर्नर रोड क्लेमेनटाउन सहित अनुज सैनी निवासी हसनपुर भगवानपुर, हरिद्वार के खिलाफ शांति भंग, कोविड कर्फ्यू के उल्लंघन और संपत्ति पर कब्जे के प्रयास का मुकदमा दर्ज किया। शनिवार गिरफ्तारी के बाद रविवार को उन्हें ड्यूटी मजिस्ट्रेट के समक्ष पेश किया गया, जहां से उन्हें जमानत पर रिहा कर दिया गया है।