उत्तराखंड में हो रही लगातार भारी बारिश से मिट्टी की पकड़ ढ़ीली पड़ गई है जिस वजह से पहाड़ी क्षेत्र में लैंड स्लाइड जैसी घटनाएं आम हैं। मंगलवार शाम को एक ऐसी ही घटना में उत्तरकाशी जिले में 40 बकरियां भागीरथी नदी में समा गई। घटना देर शाम घटित होने के कारण राहत बचाव के कार्य को करने में काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ा। देर रात होने के कारण खोज बचाव अभियान को रोकना पड़ा। 

जिला मुख्यालय से उत्तरकाशी से 70 किलोमीटर दूर सोन गाड़ के पास भारी चट्टान टूटने के कारण क़रीब 40 बकरियां भागीरथी नदी में बह गई है। जिसमें 13 मृत बकरियों को हर्षिल पुलिस की टीम ने भागीरथी नदी से निकाल दिया है। जानकारी के अनुसार मंगलवार की शाम क़रीब साढ़े छह बजे भेड़ बकरी पालक जंगल से ही भेड़ बकरियों को जंगल से चुगाकर सोन गाड़ (बरसाती नाला) के पास स्थित डेरे में ला रहे थे। तभी एक भारी चट्टान गिरी। जिसकी चपेट में आने से कुछ भेड़ बकरियां भागीरथी नदी में गिर गई। जबकि कुछ बकरियां चट्टान के नीचे दबने से भी मरने की आशंका है।

स्थानीय प्रशासन के अनुसार यह घटना चट्टान के खिसकने से हुई। क्षेत्र में एक चरवाह अपनी बकरियों को लेकर यहां से गुजर रहा था जिसकी चपेट में बकरियां आ गई और कुछ बकरियां सीधे भागीरथी में जा गिरी जबकि कुछ के मलवे के नीचे दबे होने की आशंका जताई जा रही है। बकरी चरवाहे के अनुसार उसकी 40 बकरियां झुंड से गायब है जबकि काफी मश्क्कत के बाद 13 ही मृत बकरियां अभी तक बरामद हुई हैं।