भगवान राम की जन्मभूमि नेपाल में होने का दावा करने के बाद प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने अब एक और चौंकाने वाला दावा किया है।  उन्होंने योग पर अपना दावा किया है।  आपको बता दें कि कल अंतरराष्ट्रीय योग दिवस था और इस मौके पर नेपाल के पीएम ओली ने विवादित बयान दिया था।  उन्होंने कहा, योग की उत्पत्ति भारत से नहीं बल्कि नेपाल से हुई है।


योग दिवस पर एक कार्यक्रम को संबोधित करते हुए ओली ने कहा, नेपाल में योग तब से प्रचलित है जब से भारत एक राष्ट्र के रूप में अस्तित्व में भी नहीं था। साथ ही, नेपाली पीएम ओली ने कहा, योग भारत के उदय से बहुत पहले नेपाल में प्रचलित था।  जब योग प्रचलन में आया, तब भारत नहीं बना था। उस समय भारत जैसा कोई देश नहीं था, तब कुछ ही राज्य थे। इसलिए योग नेपाल या उत्तराखंड के आसपास शुरू हुआ। भारत में इसकी शुरुआत नहीं हुई।

उन्होंने आगे कहा, हमारा देश योग को पूरी दुनिया में नहीं ले जा सका, लेकिन भारत ने इसे अंतरराष्ट्रीय ख्याति दिलाई। हमने योग की खोज करने वाले अपने संतों को कभी श्रेय नहीं दिया। हमने हमेशा प्रोफेसरों और उनके योगदान के बारे में बात की। लेकिन हम दावा नहीं कर सके। हम योग को पूरी दुनिया में नहीं ले जा सके। भारत के पीएम नरेंद्र मोदी ने अंतर्राष्ट्रीय योग दिवस का प्रस्ताव रखा था और यह उत्तरी गोलार्ध के सबसे बड़े दिन के अवसर पर शुरू हुआ। इस तरह, योग ने पूरी दुनिया में प्रसिद्धि प्राप्त की है।