01 जुलाई से स्कूली शिक्षा पुनः ऑनलाइन माध्यम से शुरू, हालात सामान्य होने पर पहले बोर्ड और फिर बाकी कक्षाओं के लिए खुलेंगे स्कूल ।

एक जुलाई से स्कूलों में एक बार फिर से ऑनलाइन पढ़ाई शुरू हो जाएगी। इसको लेकर शासन ने बुधवार को आदेश भी जारी कर दिए हैं। इस बात के संकेत पहले ही मिल चुके थे कि पढ़ाई ऑनलाइन माध्यम से ही होगी क्योंकि कोरोना की तीसरी लहर 18 वर्ष के कम उम्र के बच्चों के लिए घातक है, इसलिए स्कूली शिक्षा का ऑफलाइन सम्पन्न होना सम्भव नही है। हाँ, जुलाई 15 तक उच्च शिक्षा को ऑफलाइन खोला जा सकता है जैसा की पहाड़ समीक्षा ने अपने पूर्व प्रकाशित लेख में कहा था। इस बाबत उच्च शिक्षा राज्य मंत्री धनसिंह भी प्रयासरत हैं लेकिन यूजीसी की तरफ से तस्वीर साफ नही हो पाई है।


राज्य में स्कूली शिक्षा के लिए 08 मई से 30 जून तक ग्रीष्मावकाश घोषित कर दिया था। इस बार तकरीबन 24 दिन पहले ही ग्रीष्मावकाश घोषित कर दिया गया था, जो 30 जून को खत्म हो गया है। नये जारी आदेशानुसार प्रदेश में स्कूली शिक्षा पूर्व की तरह ही ऑनलाइन माध्यम से चलती रहेगी। अगर आने वाले दिनों में कोरोना की स्थिति सामान्य रही तो स्कूलों को जिलेवार तरीके से खोला जाएगा। जिन जिलों में कोरोना के मामले लगभग समाप्ति की तरफ होंगे वहां पर स्कूलों को पहले बोर्ड कक्षाओं के लिए और फिर धीरे-धीरे बड़ी कक्षाओं से छोटी कक्षाओं के लिए खोला जाएगा।