पौड़ी जिले के विकासखंड कोट के अंतर्गत सिरोली गांव के रहने वाले दो बच्चों की मौत झील में डूबने से हो गई। सिरोली गांव के रहने वाले दोनों मृतक भाई बहन थे और वे अपने मामा के गांव रखूण गए थे, जहां मामा की लड़की व सिरोली गांव के दो भाई बहन झील के पास गए हुए थे। खेल खेल में बच्चे झील के पास में चले गये जहां पर सिरोली गांव के भाई-बहन पानी में डूब गये। घटना के बाद ग्रामीणों ने उन्हें झील से निकालकर जिला अस्पताल पौड़ी लाए लेकिन डॉक्टरों ने मृत घोषित कर दिया।

असमाजिक तत्वों ने स्कूल गेट के समीप खड़ी बस में लगाई थी आग- कल कोटद्वार नगर निगम क्षेत्र के अंतर्गत दुर्गापुरी में उमराव नगर गेट के समीप खड़ी जीएमओयू की एक बस को असामाजिक तत्वों ने आग लगा दी थी। उमरावनगर निवासी मोहन सिंह चौधरी ने पुलिस को बताया कि बुधवार को वह अपनी बस घर के बाहर सड़क किनारे खड़ी कर लैंसडौन चले गए थे। देर रात करीब एक बजे घर में मौजूद सदस्यों ने कांच चटकने की तेज आवाज सुनी तो वह घर से बाहर निकले तो देखा बस की खिड़कियों से आग की लपटें तेजी से बाहर की ओर निकल रही थी। इस बीच शोर सुन पड़ोसी भी बाहर आ गए व उन्होंने घटना की सूचना दमकल विभाग को दी।

करीब आधे घंटे बाद मौके पर पहुंची दमकल टीम ने आग पर काबू तो पा लिया। लेकिन, तब तक बस पूरी तरह जल चुकी थी। मोहित ने बताया कि बस के आसपास शराब की बोतलें भी पड़ी हुई थी। जिससे प्रतीत होता है कि असामाजिक तत्वों बस को आग लगाई है। उपनिरीक्षक अनिल कुमार ने बताया कि घटनास्थल के आसपास लगे सीसीटीवी फुटेज खंगाले जा रहे हैं।