उत्तराखंड सरकार ने प्रदेश के सभी सरकारी स्कूलों में पढ़ रहे छात्र छात्राओं को मुफ्त में टैब देना का निर्णय लिया है। वर्तमान में 1.36 लाख से ज्यादा छात्र-छात्राएं कक्षा 11 और 12 में पढ़ाई कर रहे हैं। मुख्यमंत्री कार्यालय के निर्देश पर शिक्षा विभाग ने यह प्रस्ताव तैयार किया है। इसे अंतिम रूप देने से पहले मुख्यमंत्री और शिक्षा मंत्री के सामने रखा जाएगा। शिक्षा सचिव आर. मीनाक्षीसुंदरम ने योजना की पुष्टि करते हुए बताया कि इस प्रस्ताव को उच्च स्तर से सैद्धांतिक सहमति है। 

सीएम कार्यालय के अनुसार, कोरोना की वजह से लगातार जारी स्कूल बंदी में छात्र टैब के जरिए ऑनलाइन पढ़ाई जारी रख सकेंगे। इंटरनेट की सुविधा वाले क्षेत्रों में तो सामान्य टैब दिया  जा सकता है। जबकि बिना नेटवर्क वाले क्षेत्रों में छात्रों को टैब में शैक्षिक मैटेरियल ऑफलाइन मोड पर अपलोड कर दिया जाएगा। सीएम के मुख्य सलाहकार शत्रुघ्न सिंह ने दिवाली से पहले पहले सभी स्कूलों की मरम्मत-रंगरोगन पूरा करने के निर्देश जिलाधिकारियों को दिए। इसके लिए जिला योजना से 15 प्रतिशत बजट दिया जाएगा।

त्रिवेंद्र सरकार में किये गये वादों पर सरकार ने अभी तक कोई निर्णय नही लिया है लेकिन शिक्षा मंत्री अरविंद पांडे का कहना है कि सरकार सरकारी स्कूलों के लिए बहुत कुछ कर रही है। प्रत्येक ब्लॉक में एक अंग्रेजी माध्यम सरकारी स्कूल खोलने की बात करके सरकार इस मुद्दे पर चुप है। राज्य में केंद्रीय विद्यालयों की संख्या बढाने की बात हुई थी उस पर भी अभी तक सरकार ने कोई एक्शन नही लिया है। अब सरकार टैब बांटकर क्या गुल खिलाना चाहती है यह तो सरकार ही जाने।