गोवंश को लेकर देश भर में कानून के बाबजूद लोग गोवंश हत्या से बाज नही आ रहे हैं। प्रदेश में डीजीपी का पदभार सम्भाले अशोक कुमार के शासन में लौ एंड आर्डर की स्थिति बहुत बेहतर ढंग से काम कर रही है। कर्तव्य निष्ठा और सतर्कता के लिए उत्तराखंड पुलिस देश में शिर्ष पर अपनी ख्याति बिखेर रही है। ऐसे में कुछ छोटी मानसिकता के लोग सोच रहे है कि वह अपराध करेंगे और बचकर निकल जाएंगे। इसी कड़ी में शुक्रवार को पुलिस के हाथ दो ऐसे बदमाश चढ़े जो गोवंश की तस्करी कर रहे थे।

प्राप्त जानकारी के अनुसार शुक्रवार को बलूनी पब्लिक स्कूल के पीछे मोरोवाला रोड पर  पुलिस ने चैकिंग के लिए एक कार को रोकने का प्रयास किया तो कार चालक कच्चे रास्ते से भगाने लगा। अपनी सूझबूझ से पुलिस टीम ने कार को चारो तरफ से घेर लिया। कार में कुल दो लोग सवार थे। जब पुलिस ने कार की तलाशी शुरू की तो सीट के नीचे ठूंसकर रखा गोवंश मिला, जिसे मुक्त कर दिया गया। वाहन की डिग्गी से हरियाणा की नंबर प्लेट बरामद हुई। इसके अलावा कार में एक कुल्हाड़ी और एक गंडासा भी मिला। आरोपितों के पास एक-एक चाकू भी बरामद हुआ। 

आरोपितों के खिलाफ पशु क्रूरता अधिनियम व  आर्म्‍स एक्ट के तहत मुकदमा दर्ज किया गया है। आरोपितों की पहचान जीशान और इकराम निवासी लोहियानगर ब्राह्मणवाला के रूप में हुई। पुलिस ने बताया कि वाहन हरियाणा राज्य का है लेकिन ये दोनों उस पर उत्तराखंड की नम्बर प्लेट लगाकर आपराधिक गतिविधियों में कार का स्तेमाल करते थे। सख्ती से पूछताछ पर दोनों ने कबूल किया कि वे गोवंश का व्यापार किया करते थे।