नगर निगम देहरादून को शहर संवारने की अहम जिम्मेदारी, कोरोना काल के बाद अगले एक साल में होंगे 40 करोड़ खर्च।

कोरोना संक्रमण की दूसरी लहर के कुछ थमने पर बुधवार को नगर निगम की बोर्ड बैठक आयोजित हुई। महापौर गामा की अध्यक्षता व नगर आयुक्त विनय शंकर पांडेय की मौजूदगी में हुई बोर्ड बैठक का फोकस शहर के विकास कार्यों व स्वच्छता पर रहा। इस वर्ष की पहली व ठीक सात महीने बाद आयोजित बोर्ड बैठक में हर मर्तबा की तरह हंगामे जैसा कुछ नहीं रहा। सुबह 11 बजे शुरू बैठक में शुरुआती एक घंटे में ही बैठक के पूरे एजेंडे पर चर्चा भी हो गई और प्रस्तावों को मंजूरी भी मिल गई। इसके बाद अगले एक घंटे महापौर की संस्तुति पर पार्षदों के सवालों पर चर्चा हुई। 


शहर के समस्त 100 वार्डों में सड़क, गली, नाली, पार्क आदि के निर्माण कार्य व स्वच्छता के लिए नगर निगम ने 40 करोड़ रुपये का बजट मंजूर किया है। बोर्ड बैठक में महापौर सुनील उनियाल गामा ने कोरोना के साये से बाहर निकलकर प्रारंभिक चरण में सभी सौ वार्डों में 40-40 लाख रुपये से विकास कार्य कराने को गति देने की मंजूरी दी है। इसमें 20-20 लाख रुपये पार्षदों की ओर से दिए गए कार्यों के प्रस्ताव पर जारी होंगे, जबकि बाकी 20-20 लाख रुपये के कार्य महापौर की मंजूरी पर होंगे। 


बारिश में सड़कों पर होने वाले गड्ढों के पैच वर्क के लिए प्रत्येक वार्ड को ढाई-ढाई लाख रुपये का बजट अलग दिया जाएगा। अगले एक वर्ष में शहर की सूरत संवारने के लिए नगर निगम यह 40 करोड़ रुपये खर्च करने जा रहा है। बैठक में निगम के सभी अधिकारियों समेत पार्षद, राजपुर विधायक खजानदास व रायपुर विधायक उमेश शर्मा काऊ भी मौजूद रहे।