सीएम अमरिंदर सिंह ने शनिवार को अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी (एआईसीसी) के महासचिव और कांग्रेस पंजाब प्रभारी हरीश रावत के साथ बैठक की।  बैठक के बाद पंजाब के सीएम अमरिंदर सिंह ने कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष द्वारा लिया गया कोई भी फैसला सभी को मंजूर होगा। गौरतलब है कि अमरिंदर सिंह और नवजोत सिंह सिद्धू के बीच मतभेदों को लेकर पंजाब कांग्रेस में बढ़ती खींचतान के बीच रावत चंडीगढ़ गए हैं।

ऐसी अटकलें हैं कि क्रिकेटर से नेता बने सिद्धू को पंजाब में कांग्रेस इकाई का अध्यक्ष बनाया जा सकता है।  रावत दोपहर 12 बजे हेलीकॉप्टर से चंडीगढ़ पहुंचे और सीधे मोहाली में सीएम के फार्म हाउस गए।  इससे पहले दिन में अमरिंदर सिंह ने पार्टी की कार्यकारी अध्यक्ष सोनिया गांधी को पत्र लिखकर नवजोत सिंह सिद्धू के महत्वपूर्ण पद पर आपत्ति जतायी थी।

रावत के दौरे को अमरिंदर सिंह को मनाने की कोशिश के तौर पर देखा जा रहा है। कहा जाता है कि अमरिंदर सिंह ने कहा था कि सिद्धू (जाट सिख) को राज्य में पार्टी का अध्यक्ष बनाए जाने से हिंदू समुदाय का प्रतिनिधित्व करने वाले पार्टी के वरिष्ठ नेता नाराज हो सकते हैं और 2022 के विधानसभा चुनावों में पार्टी की संभावनाओं को नुकसान पहुंचा सकते हैं।