आपसी पारिवारिक विवाद में राजपाल ने कर दी छोटे भाई रमेश की हत्या, क्रोध पर काबू न रख पाने की सजा में पहुंचे सलाखों के पीछे।

मामला टिहरी जिले के नरेंद्रनगर थाना क्षेत्र के ओणी गांव का है। 23 जुलाई को रमेश कुमार पर उनके ही बड़े भाई राजपाल ने सब्बल से प्रहार कर घायल कर दिया था। गम्भीर हालत में रमेश कुमार को जौलीग्रांट हॉस्पिटल लाया गया लेकिन 26 जुलाई को उपचार के दौरान रमेश लाल ने दम तोड़ दिया। इसके बाद नरेंद्रनगर थाने में रमेश कुमार के साले ने मुकदमा दर्ज करवाया तो पुलिस ने हत्या की धाराओं में राजपाल को गिरफ्तार कर लिया है।


पुलिस जांच में पता चला कि दोनों भाइयों के बीच अक्सर विवाद होता रहता था। 23 जुलाई की रात को दोनों के बीच किसी बात को लेकर विवाद हो गया। दोनों के घर आसपास हैं। राजपाल अपने घर से पत्थर तोड़ने वाली घन लेकर रमेश के घर पर जा धमका। उसने रमेश कुमार का दरवाजा व दीवार घन मारकर तोड़ दी। परिवार वालों ने किसी तरह राजपाल के हाथ से घन छुड़ाई। मगर, इसी बीच वह सब्बल लेकर आया और छोटे भाई रमेश के पेट में वार कर दिया। रात को किसी तरह परिवार के ही सदस्यों ने दोनों को समझा-बुझाकर शांत किया। 24 जुलाई की सुबह रमेश के पेट में दर्द होने लगा। उसे पहले नरेंद्र नगर राजकीय चिकित्सालय ले जाया गया, जहां से चिकित्सकों ने उसे पेट में अंदरूनी घाव होने के कारण जौलीग्रांट रेफर कर दिया।

हिमालयन हॉस्पिटल जौलीग्रांट ने 25 जुलाई को रमेश लाल का ऑपरेशन भी किया लेकिन 26 जुलाई को रमेश कुमार  ने दम तोड़ दिया। घटना के बाद परिजनों में बड़े भाई को लेकर काफी रोष बढ़ गया। रमेश कुमार के साले मनोज कुमार ने पुलिस को मामले में तहरीर दी, जिसके बाद अपराधी राजपाल को न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया है।