महेश नेगी के बाद सुरेश राठौर प्रकरण ने बढाई प्रदेश भाजपा की मुश्किलें, वीडियो वायरल होने के बाद भाजपा अभिनेत्री ने लगाया दुष्कर्म का गम्भीर आरोप। 

महेश नेगी प्रकरण से अभी निजात मिला नही कि उत्तराखंड भाजपा के एक और विधायक सुरेश राठौर पर दुष्कर्म का मामला प्रकाश में आ गया है। उच्च न्यायालय ने ज्वालापुर विधायक पर दुष्कर्म का आरोप लगाने वाली पीडि़ता की याचिका पर एसएसपी हरिद्वार व कोतवाली बहादराबाद पुलिस को पीडि़ता व उसके परिवार को तत्काल सुरक्षा मुहैया कराने के आदेश दिए हैं। आपको बता दें कि विधायक का एक वीडियो वायरल हो गया था जिसके बाद विधायक ने पुलिस से शिकायत दर्ज करवाई थी। उसके बाद भाजपा की अभिनेत्री ने ही भाजपा विधायक पर दुष्कर्म का गम्भीर  आरोप लगाया था।

बुधवार को मुख्य न्यायाधीश न्यायमूर्ति आर.एस चौहान व न्यायमूर्ति आलोक कुमार वर्मा की खंडपीठ में हरिद्वार जिले की निवासी पीड़ित भाजपा अभिनेत्री की याचिका पर सुनवाई हुई। पीड़िता का आरोप है कि ज्वालापुर सीट के भाजपा विधायक सुरेश राठौर व उनके साथी, पीड़िता व उनके परिवार को जान से मारने की धमकी दे रहे हैं। पीड़िता ने यह भी आरोप लगया कि उनकी शिकायत पर पुलिस ने पहले कोई कारवाई नही की। उसके बाद पीड़िता ने प्रधानमंत्री, मुख्यमंत्री, एसएसपी, आइजी, प्रधानमंत्री व नेशनल वूमेन सेल में भी इसकी शिकायत की, जिसके बाद पहली जुलाई को उसकी शिकायत पर थाना बहादराबाद में मुकदमा दर्ज हुआ।

भाजपा विधायक सुरेश राठौर पर आरोप लगाते हुए पीड़िता ने कहा कि वीडियो वायरल होने के बाद सुरेश राठौर ने उसके खिलाफ ब्लैकमेलिंग का मुकदमा दर्ज करा दिया, जिस पर पुलिस ने उन्हें व उनके पति सहित दो अन्य साथियों को गिरफ्तार कर जेल भिजवा दिया। पीड़िता ने आगे कहा चूंकि विधायक सत्ताधारी पार्टी से है इसलिए पार्टी में पद दिलवाने का प्रलोभन देकर मामले को रफादफा करवाने की कोशिश भी कर रहा है। सभी दलीलों को सुनने के बाद खंडपीठ ने पुलिस को पीड़ित महिला की सुरक्षा के निर्देश जारी कर दिए हैं।