सीमा सुरक्षा संगठन BRO पर भ्रष्टाचार का गम्भीर आरोप, देश के बाहर बेच दिया देश का सीमेंट। वीडियो वायरल होने के बाद शासन/प्रशासन हरकत में।

सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल होने के बाद प्रशासन हरकत में आया। दरअसल, गुरुवार को एक वीडियो वायरल हुआ। जिसमें गर्बाधार-लिपुलेख सड़क पर नेपाल सीमा से लगे बूंदी से पूर्व कुथला नामक स्थान का है। जहां पर बीआरओ के वाहन से सीमेंट उतार कर नेपाल को भेजा जा रहा है। यह वीडियो अप्रैल माह का बताया जा रहा है। इसके सामने आने के बाद सरकार ने जांच के आदेश जारी कर दिए हैं।


सूत्रों द्वारा प्राप्त जानकारी के अनुसार अप्रैल माह में काली नदी का जलस्तर कम रहता है। कुथला के पास मलबे के साथ विशाल बोल्डर गिरने से काली नदी का जल कुछ बाधित हुआ और बोल्डरों से जल स्तर नीचे रहा जिसकी वजह से आवाजाही के लिए एक प्राकृतिक पुल बना था। झारखण्ड के एक मजदूर के अनुसार उन दिनों गुंजी में कार्य करने को लेकर सामान नहीं मिल रहा था। जिसकी वजह से पचास से अधिक मजदूर वापस लौट गए । जिसके बाद यह सारा खेल शुरू हुआ। बताया जा रहा है कि इस स्थान पर काली नदी पार नेपाल में करोड़ों की लागत से निर्माण कार्य सुरक्षा दीवार व अन्य कार्य चल रहे हैं। 

वीडियो वायरल होने के बाद जब बीआरओ के संबंधित अधिकारी को कई बार फोन करने के बाद भी फोन नहीं उठा। अब तहसील प्रशासन ने इस मामले को गंभीरता से लिया है। एसडीएम एके शुक्ला ने बीआरओ के अधिकारियों को वायरल हुए वीडियो की सत्यता की जांच कराने को कहा है। अगर जांच सही पाई जाती है तो इसकी चपेट में बीआरओ के बड़े अधिकारी भी आ सकते हैं।