चम्पावत में लागातर हो रही बारिश से कई गांव खतरे में, शासन/प्रशासन ने कई गांवों को खाली करने के निर्देश किए जारी।

लगातार हो रही बारिश के कारण चम्पावत, स्वाला में ड्रोन सर्वे करवाया गया। प्रशासन ने इस गांवों में ड्रोन सर्वे कराकर खतरे की जद में आए परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने की कवायद शुरू कर दी है। प्रशासन तल्ली स्वाला, टाक और च्यूरानी तोकों के 16 परिवारों को एहतियान पहले ही गांवों के स्कूल और पंचायत भवनों में शिफ्ट कर चुका है। अब स्वाला ग्राम पंचायत के टाक तोक में रह रहे 07 परिवारों को जगह खाली करने और सुरक्षित स्थानों पर जाने के नोटिस जारी किए गए हैं। 


आपको बता दें कि रविवार को एडीएम टीएस मर्तोलिया ने भी इन परिवारों को सुरक्षित स्थानों पर जाने की सलाह दी थी। जबकि सोमवार को चम्पावत की नायब तहसीलदार ज्योति धपवाल ने बताया कि चम्पावत और बाराकोट के इन तीन तोकों में 45 परिवार रह रहे हैं। स्वाला में ड्रोन सर्वे करने के बाद तल्ली स्वाला और टाक तोक के सात परिवारों के लिए अत्यधिक खतरा देखते हुए उन्हें सुरक्षित स्थान पर जाने के नोटिस दे दिए गए हैं। 

नायब तहसीलदार ने बताया कि सोमवार को स्वाला क्षेत्र के ईश्वरी दत्त, महादेव भट्ट, धर्मानंद, मोतीराम, प्रेमबल्लभ, चूड़ामणी, गिरीश चंद्र, कृष्णानंद को नोटिस जारी कर दिए गए हैं। जबकि लोहाघाट के नायब तहसीलदार विजय गोस्वामी के नेतृत्व में राजस्व विभाग की टीम सोमवार को भी भारतोली गांव के लोगों को सुरक्षित स्थानों पर भेजने में जुटी रही। गोस्वामी ने बताया कि मल्ली भारतोली में राम सिंह, पुष्कर सिंह, बलवंत सिंह, भवान सिंह, कल्याण सिंह, किशन सिंह, पुष्पा देवी, नारायण सिंह को सुरक्षित स्थान पर भेज दिया गया है।