उत्तरकाशी पहुंचे मुख्यमंत्री धामी के सामने लगे भाजपा मुर्दाबाद के नारे, ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि आपदा प्रभावितों के सहारे बीजेपी कार्यकर्ताओं से मिलने आए धामी।

दो दिन पहले उत्तरकाशी में बादल फटने से काफी तबाही हुई थी। इसी सम्बन्ध में आज 12 बजे मुख्यमंत्री धामी उत्तरकाशी पहुंचे। हेलीकॉप्टर से उतरने के बाद मुख्यमंत्री सीधे आपदा प्रभावित मांडो और कनरानी गांव पहुंचे। मुख्यमंत्री धामी ने ग्रामीणों की मांग पर डीएम को मांडो गांव के विस्थापन की प्रक्रिया शुरू करने के निर्देश दिये। कहा कि राज्य सरकार द्वारा प्रभावितों को हर संभव सहायता दी जाएगी। 

मुख्यमंत्री ने मांडो गांव पहुंचकर मृतकों के परिजनों को सांत्वना दी। मुख्यमंत्री को अपनी आपबीती सुनाते हुए एक महिला बेहद भावुक होकर रोने लगी। इसी दौरान कुछ ग्रामीणों ने भाजपा सरकार मुर्दाबाद के नारे लगाने शुरू कर दिए। ग्रामीणों ने आरोप लगाया कि मुख्यमंत्री आपदा प्रभावितों का हाल चाल पुछने के बहाने बीजेपी कार्यकर्ताओं से मिलने आए थे। आरोप लगाते हुए ग्रामीणों ने कहा कि मुख्यमंत्री ने आपदा प्रभावित लोगों की बातें नहीं सुनी और खानापूर्ति कर केवल चुनावी माहौल तैयार करने आए हैं।

हालांकि मुख्यमंत्री ने जिलाधिकारियों निर्देशित किया कि आमजन को अपनी समस्या के समाधान के लिए परेशान नहीं होना चाहिए। जनहित के कार्यों में ढिलाई बर्दाश्त नहीं की जाएगी। तहसील और जिला स्तर की समस्याएं शासन में आई तो इसके लिए संबंधित जिले का अधिकारी जवाबदेह होगा। लेकिन उनके जवाब से ग्रामीण संतुष्ट नजर नहीं आए। बताया जा रहा है कि पुष्कर सिंह धामी 21 जुलाई से चमोली जिले के दो दिवसीय दौरे पर गोपेश्वर पहुंचने वाले थे। लेकिन मौसम खराब होने के कारण बुधवार को यह दौरा रद्द किया गया है।