शासन ने आपदा की स्थिति को देखते हुए टोल फ्री नंबर जारी किए हैं।  समस्त अधिकारी किसी भी प्रकार की आपदा की सूचना राज्य आपदा नियंत्रण कक्ष के फोन नंबरों 0135-2710334, फैक्स नंबर 0135-2710335, टोल फ्री नंबर 1070, 9557444486 पर तत्काल सूचना देंगे।

लगातार हो रही बारिश ने सड़कों को खोलने के काम में लगी कार्यदायी संस्थाओं की मुश्किलें भी बढ़ा दी हैं। सोमवार शाम प्रदेश में तीन नेशनल हाईवे समेत कुल 250 सड़कें अवरुद्ध थीं। लोनिवि ने एहतियातन प्रदेश में निर्माणाधीन करीब 80 पुलों का काम रोक दिया है। मौसम विभाग ने 21 और 22 जुलाई को भी नैनीताल और पिथौरागढ़ जिले के लिए बारिश की चेतावनी देते हुए यलो अलर्ट जारी किया गया है।

मौसम विभाग ने आज बागेश्वर, नैनीताल और पिथौरागढ़ जिले में भारी बारिश होने की संभावना जताई है। मौसम विभाग ने बारिश का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। रविवार रात से शुरू हुई बारिश ने प्रदेश में पांच राष्ट्रीय राजमार्गों को अवरुद्ध कर दिया था। सोमवार शाम तक लोनिवि ने इनमें से चार मार्गों को खोल दिया। अब भी तीन राष्ट्रीय राजमार्ग मलबा आने के कारण बाधित हैं। इसी तरह प्रदेश में सोमवार तक कुल 315 सड़कें बंद थीं, इनमें से 65 सड़कों पर रविवार शाम तक यातायात सुचारू करा दिया गया था।

आज पुनः रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड राजमार्ग पर अचानक भूस्खलन हो गया। रास्ते पर मलबा आने से हाईवे बंदहो गया है। वहीं, तोताघाटी  व इसके आस-पास अन्य जगहों पर भी बोल्डर और मलवा आने से बदरीनाथ हाईवे बंद है। सोमवार शाम तक प्राप्त रपट के अनुसार, प्रदेश में तीन नेशनल हाईवे समेत कुल 250 सड़कें बन्द थी। जबकि लोनिवि ने एहतियातन प्रदेश में निर्माणाधीन करीब 80 पुलों का काम रोक दिया है।