दून विश्विद्यालय में मंगलवार से ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू, इस वर्ष प्रवेश के लिए नही होगी परीक्षा। पूर्व वर्ष के अंकों के आधार पर मिलेगा प्रवेश ।

मंगलवार से दून विश्वविद्यालय में आनलाइन पंजीकरण प्रक्रिया शुरू हो गई है। कोरोना संक्रमण के कारण लगातार दूसरे साल विश्विद्यालय अखिल भारतीय स्तर पर होने वाली प्रवेश परीक्षा नहीं करवाई जाएगी। कुलपति प्रो. सुरेखा डंगवाल ने बताया कि विवि की परीक्षा समिति ने यह तय किया है कि इस बार भी स्नातक व इंटीग्रेटेड स्नातकोत्तर के पाठ्यक्रमों में 12वीं के अंकों के उच्चतम स्तर के आधार पर प्रवेश दिए जाएंगे। स्नातकोत्तर में स्नातक के अंकों  के आधार पर दाखिला मिल सकेगा। 


प्रवेश के लिए विश्विद्यालय की वेबसाइट doonuniversity.ac.in पर आनलाइन आवेदन फार्म उपलब्ध है। फार्म भरने की अंतिम तिथि 20 अगस्त रखी गई है। आपको बता दें कि विश्विद्यालय का सत्र अक्टूबर से शुरू होगा। इस सत्र में दून विवि ने गढ़वाली, कुमाऊंनी, जौनसारी बोली का सर्टिफिकेट कोर्स शुरू किया गया है। स्कूल आफ लैंग्वेज के तहत स्थानीय बोली-भाषा को बढ़ावा देने के लिए इस एक वर्षीय कोर्स की शुरुआत की गई है। इसमें 20-20 सीटें निर्धारित होंगी।

दून विश्विद्यालय ने कई ऐसे पाठ्यक्रम भी शुरू किए हैं, जिनके लिए अब तक छात्रों को दिल्ली, हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ के चक्कर काटने पड़ते थे। जिसमें बीए आनर्स मनोविज्ञान, अंग्रेजी, अर्थशास्त्र पाठ्यक्रम की बहुत अधिक डिमांड है। इसके अलावा बीकाम आनर्स भी शुरू किया गया है। कुलपति प्रो. सुरेखा डंगवाल ने बताया कि राज्यपाल बेबी रानी मौर्य ने विशेष तौर पर यह पाठ्यक्रम शुरू करने का सुझाव दिया था। जिस पर अमल करते हुए विश्विद्यालय ने कई नए कोर्स शामिल कर लिए हैं।