ऊर्जा मंत्रालय का पदभार अम्भालते ही हरक सिंह का बड़ा ऐलान, 100 यूनिट तक बिजली मुफ्त और 101 से 200 यूनिट तक 50% करना होगा भुगतान।

उत्तराखंड में चुनावों के मध्यनजर प्रदेश भाजपा किसी को कोई मौका भुनाने के अवसर नही देना चाहती है। ऐसे में प्रदेश सरकार ने राज्य के नागरिकों को 100 यूनिट तक बिजली खपत में बड़ी राहत दी है। यह एक सार्थक कदम है, क्योंकि इस प्रकार के तय मानकों से लोगों अनावश्यक चीजों पर कटौती करना सीखतें है। दूसरा कई लोग जिनके पास रोजगार नही है और मवेशियों व कृषि के सहारे ही जीवन यापन करते हैं, उनके लिए यह प्रयास बेहद फायदेमंद साबित होगा। पूरा भारत जानता है कि उत्तराखंड में सर्वाधिक बांध हैं जो बिजली बनाकर पूरे देश को जगमग करने का काम करते हैं। ऐसे में यह फैसला बहुत देर से लिया गया है।


101 से 200 यूनिट तक की खपत पर 50 फीसद बिल लिया जाएगा। सरकार की इस पहल से करीब साढ़े सात लाख उपभोक्ताओं को लाभ मिलेगा। हालिया ऊर्जा मंत्री डा हरक सिंह रावत ने बुधवार को ऊर्जा के तीनों निगमों के अधिकारियों के साथ बैठक में इस सिलसिले में प्रस्ताव तैयार कर कैबिनेट के समक्ष रखने के निर्देश दिए। हरक सिंह के अनुसार प्रदेश में करीब 23.50 लाख घरेलू विद्युत उपभोक्ता हैं, जबकि तीन लाख उपभोक्ताओं के पास व्यवसायिक कनेक्शन हैं। करीब साढ़े सात लाख उपभोक्ता ऐसे हैं, जो अमूमन 100 यूनिट से कम बिजली खर्च करते हैं। अधिकारियों को निर्देश दिए गए हैं कि इन परिवारों को मुफ्त बिजली देने के मद्देनजर मानक तय करने के साथ समग्र प्रस्ताव अविलंब तैयार किया जाए। 

राजनीतिज्ञ लोग इस कदम को आम आदमी पार्टी की राज्य में सक्रियता से प्रेरित मान रहें हैं। बात जो भी फैसला जनहित का है। इस फैसले का स्वागत होना ही चाहिए। इस महंगाई के दौर में कहीं से तो राहत की खबर आई। आम जनता के लिए यह एक महत्वपूर्ण निर्णय है। खबर है कि हरक सिंह दिल्ली गये थे लेकिन गृहमंत्री अमित शाह से मुलाकात नही हो पाई। हरक सिंह ने कहा कि वे जल्द ही दिल्ली जाएंगे और अमित शाह से राज्य विकास में अहम योजनाओं को लेकर चर्चा करेंगे।