नई दिल्ली: कृषि कानून के खिलाफ जारी किसानों के आंदोलन के बीच गुरुवार को किसान संसद तक मार्च निकालने वाले हैं।  इसकी घोषणा किसान संगठनों ने की है।  इस मार्च को लेकर दिल्ली की तमाम खुफिया एजेंसियां ​​अलर्ट पर हैं।  इस साल की शुरुआत में 26 जनवरी को दिल्ली में किसान आंदोलन के दौरान बवाल हुआ था। दिल्ली पुलिस को भी अब अलर्ट कर दिया गया है।  खुफिया रिपोर्ट में कहा गया है कि 22 जुलाई को किसान संगठन बड़े पैमाने पर आंदोलन शुरू कर सकते हैं, जिससे कानून-व्यवस्था बाधित हो सकती है।


अलर्ट के मुताबिक आंदोलनकारी बड़ी संख्या में वाहनों से दिल्ली आ सकते हैं। दिल्ली पुलिस सहित अन्य एजेंसियों को अलर्ट पर रखा गया है क्योंकि दिल्ली में भीड़ हो सकती है।  एक अन्य अलर्ट में कहा गया है कि खालिस्तानी संगठन सिख फॉर जस्टिस के महा वकील गुरपुतवंत सिंह पन्नू ने सोशल मीडिया पर कई वीडियो पोस्ट किए और 22 जुलाई को संसद को व्यवस्थित रूप से बचाने के लिए उकसाया।  पन्नू ने अपने संदेश में पंजाब के युवाओं को दिल्ली मार्च करने को कहा है।  इस संदेश के मद्देनजर दिल्ली पुलिस और अन्य एजेंसियों को अलर्ट कर दिया गया है।