उत्तराखंड में लगातार हो रही बारिश से बढ़ी लोगों की मुश्किलें, चारों धामों को जाने वाले सड़कें हुई बाधित। उत्तरकाशी में बारिश के चपेट में कई घर, दुकान, गौशालाएं ।

रुद्रप्रयाग में रात से बारिश जारी है। ऋषिकेश-बद्रीनाथ और रुद्रप्रयाग-गौरीकुंड हाईवे भी मलबा आने से बंद हाे गया है। टिहरी जिले में तड़के चार बजे से लगातार बारिश हो रही है। गंगोत्री हाईवे खुला है। वहीं जिले में 12 संपर्क मार्ग बंद हैं। चमोली जिले में भी मंगलवार देर रात से बारिश हो रही है। यहां बद्रीनाथ हाईवे जगह-जगह बंद है। जिले में 20 संपर्क मार्ग भी बंद हैं। लगातार बारिश से नदी और नालों में जलस्तर बढ़ गया है। मौसम केंद्र के अनुसार उत्तरकाशी, देहरादून, टिहरी, पौड़ी, नैनीताल, बागेश्वर और पिथौरागढ़ जिलों में कुछ स्थानों पर पूरे दिन भारी बारिश हो सकती है।

लगातार हो रही बारिश से उत्तरकाशी में बड़ेथी ऑलवेदर रोड का करीब 20 मीटर हिस्सा ढह गया है। जिससे सड़क के नीचे एक आवासीय मकान को नुकसान पहुंचा है। घटना के वक्त लोगों ने समय रहते भागकर अपनी जान बचाई। उत्तरकाशी के बड़कोट में देर रात से मूसलाधार बारिश हो रही है। जिस वजह से सड़कों, घराें और गोशालाओं में पानी और मलबा भर गया है।

यमुनोत्री हाईवे भी जगह-जगह मलबा आने से बंद पड़ा हुआ है। मानपुर क्षेत्र में अधिक बरसात के कारण इंद्रवती नदी उफान पर है। जिस वजह से गूल, गिंडा तोक गांव में जलसंस्थान की पेयजल लाइन बह गई है। बड़ाकोट में यमुना नदी और बरसाली नाले उफान पर हैं। ऐसा ही हाल कुमाऊँ के कुछ जिलों का भी है। अल्मोड़ा के नागाड में एक स्कूटी चालक बह गया है। स्कूटी तो मिल गई है, लेकिन फिलहाल चालक लापता है। स्कूटी से मिले कागजात राकेश किरौला पुत्र मोहन सिंह के नाम से हैं।