पहाड़ो पर भारी बारिश से जनजीवन अस्तव्यस्त, कई सड़क मार्ग हुए बन्द।


मौसम विभाग ने अगले 24 घटों में अल्मोड़ा, नैनीताल व पिथौरागढ़ आदि जिलों के लिए येलो अलर्ट  जारी किया है। देहरादून में हल्की से मध्यम बारिश हो सकती है। चमोली जनपद में मंगलवार देर रात से हो रही बारिश जारी है, बारिश से मौसम में ठंडक आ गई है। प्रदेश में मंगलवार को हुई बारिश ने फिर से कई सड़कों पर आवाजाही ठप कर दी। पर्वतीय क्षेत्रों में भूस्खलन के कारण करीब 150 सड़कें बंद हो गईं, लेकिन अच्छी बात यह है कि चारधाम यात्रा मार्ग सहित सभी राष्ट्रीय राजमार्ग यातायात के लिए खुले हैं।

चिन्यालीसौड़ बाईपास रोड की सुरक्षा दीवार 30 मीटर हिस्सा बुधवार की सुबह ढह गया। दो दिनों से लगातार बारिश के चलते यहां दीवार भर-भराकर गिर गई। मलबे के चलते यातायात बाधित हो गया। उधर, कुमाऊं में पिथौरागढ़ में कुलागाड़ क्षेत्र में हुई भारी बारिश ने तबाही मचाई है। यहां नाले के उफनाने से 48 मीटर पक्का पुल बह गया। जिससे यातायात पूरी तरह से ठप हो गया। सचिवालय में स्थित राज्य आपातकालीन परिचालन केंद्र से मिली जानकारी के अनुसार मंगलवार को प्रदेश के विभिन्न हिस्सों में हुई बारिश के कारण कई नदी-नाले उफान पर आ गए। राज्य में करीब 150 सड़कें भूस्खलन और दूसरे कारणों से अवरुद्ध हो गई हैं। इन सड़कों को त्वरित गति से खोलने का काम किया जा रहा है। चमोली में ऋषिकेश-बदरीनाथ राष्ट्रीय राजमार्ग बड़े-छोटे वाहनों के लिए खुला है, जबकि जनपद में 23 ग्रामीण सड़कें अवरुद्ध हुई हैं।