अगस्तमुनि में दो वर्ष की बच्ची को निवाला बनाने वाला गुलदार हुआ ढेर, कुख्यात शिकारी जॉय हुकिल ने मार गिराया आदमखोर गुलदार।

शनिवार रात करीब आठ बजे सिल्लाबामण गांव में प्रमोद कुमार की दो साल की बेटी रिषिका अपनी मां शिखा के साथ घर के आंगन में थी। इस दौरान शिखा काम में व्यस्त थी और बच्ची खेल रही थी। इस बीच शिखा किसी काम से रसोई घर में चली गई। तभी उसे रसोई में गुलदार के गुर्राने की आवाज सुनाई दी। शिखा भागते हुए आंगन में पहुंची, लेकिन तब तक गुलदार बच्ची को लेकर जंगल की ओर भाग गया।


रात को बच्ची की खोजबीन शुरू की। वन विभाग को भी फोन पर घटना की जानकारी दी गई। वन विभाग की टीम भी रात को ही मौके पर पहुंची और बच्ची की तलाश में जुट गई। लेकिन हर जगह तलाश करने पर भी मासूम का कोई अंश तक नहीं मिला। ग्रामीणों की नाराजगी और भय को देखते हुए वन विभाग ने आदम खोर को मारने के आदेश जारी करते हुए कुख्यात शिकारी जॉय हुकिल को कार्यभार शौंपा।

जॉय हुकिल ने गुलदार के लिए जाल बिछाया और और सोमवार को गुलदार को ढेर कर दिया। गुलदार के मारे जाने की खबर के बाद ग्रामीणों ने राहत की सांस ली। क्योंकि शनिवार वाली घटना से पहले आदमखोर गुलदार महिला को शिकार बनाने की कोशिश कर चुका था लेकिन महिला ने दरांती से लगातार वार किया तो गुलदार को पीछे हटना पड़ा। हालांकि, गुलदार से हुए संघर्ष में महिला को चोटें आई जिसके बाद अगस्तमुनि हस्पताल में इलाज के बाद उनको घर भेजा गया था।