अगस्त्यमुनि विकासखंड के अंतर्गत सीलाबामण गांव में गुलदार दो वर्षीय बालिका को आंगन से उठा ले गया। इसी क्षेत्र में एक दिन पहले भी एक महिला पर गुलदार ने हमला किया था। महिला ने गुलदार पर दरांती से वार कर अपनी जान बचाने में कामयाब रही।

अगस्त्यमुनि विकासखंड में गुलदार की सक्रियता से ग्रामीणों में दहशत का माहौल है। सीलाबामण गांव में गुलदार दो वर्षीय बालिका को आंगन से उठा ले गया। इसी क्षेत्र में एक दिन पहले भी एक महिला पर गुलदार ने हमला किया था। हाल ही में वन विभाग ने टिहरी जिले के अंतर्गत देवप्रयाग क्षेत्र एक गुलदार को मार गिराया था। लेकिन पोस्टमार्टम में पाया गया कि ग्रामीणों ने गुलदार पर छर्रे दागे थे जिसके बाद वह आदमखोर प्रवृति का हो गया था। 


अब रुद्रप्रयाग जिले में एक और गुलदार के नरभक्षी होने से वन विभाग की चिंताएं भी बढ़ी हुई हैं। दरअसल, गत देर रात प्रमोद कुमार ग्राम सीलाबामण गांव जावर तोक की दो वर्षीय बालिका को गुलदार ने उस समय अपना उठा ले गया, जब वह घर के आंगन में थी। बताया जा रहा है कि घटना के वक्त परिजन वहीं पर मौजूद थे। 

आपको बता दें कि एक दिन पहले भी इसी तरह की घटना इसी ग्राम पंचायत की झटगढ तोक में हुई थी, जिसमें एक महिला को बाघ ने घायल कर दिया था । महिला का उपचार सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र अगस्त्यमुनि में किया जा रहा है और अब महिला स्वस्थ बताई जा रही है। दोनों घटनाओं से वन विभाग को अवगत करवाया गया है। गुलदार की धरपकड़ के लिए वन विभाग ने जांच शुरू कर दी है।