नई दिल्ली: पंजाब कांग्रेस में अभी भी कोहराम जारी है। कांग्रेस की पंजाब इकाई में चल रहे विवाद के बीच आज पूर्व राज्य मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू ने पार्टी अध्यक्ष सोनिया गांधी से मुलाकात की। सोनिया और सिद्धू के बीच करीब एक घंटे तक मुलाकात चलती रही।  बैठक के बाद हरीश रावत ने मीडिया से मुलाकात की,वह भी इस बैठक का हिस्सा थे।  मीडिया से मुलाकात करने वाले कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने सिर्फ इतना कहा, 'जो फैसले लेंगे वह सोनिया गांधी को लेंगी। वहीं, अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी के साथ बैठक के बाद हरीश रावत ने भी कहा, पंजाब पर कांग्रेस अध्यक्ष का फैसला मिलते ही मैं आकर मीडिया से बात करूंगा।


हालांकि कांग्रेस महासचिव हरीश रावत ने बैठक को लेकर कुछ नहीं कहा।  सोनिया और सिद्धू की मुलाकात ऐसे समय में हुई है जब पार्टी की पंजाब इकाई में सांगठनिक बदलाव की तैयारी और उसमें सिद्धू को अहम भूमिका देने की बात हो रही है। बैठक में कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी और पार्टी के पंजाब प्रभारी हरीश रावत भी मौजूद थे। पिछले गुरुवार को ही रावत ने कहा था, आलाकमान एक ऐसे फॉर्मूले पर काम कर रहा है जो अमरिंदर सिंह और सिद्धू दोनों को मिलकर काम करने में मदद करेगा ताकि अगले साल होने वाले विधानसभा चुनावों में कांग्रेस को जीत दिलाई जा सके।


आप जानते ही होंगे कि पिछले कुछ महीनों से पंजाब कांग्रेस में खुली कलह देखने को मिल रही है। दरअसल पूर्व मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू और कुछ अन्य नेताओं ने मुख्यमंत्री अमरिंदर सिंह के खिलाफ मोर्चा खोल दिया है.  कांग्रेस आलाकमान ने पार्टी में दरार को दूर करने के लिए राज्यसभा में विपक्ष के नेता मल्लिकार्जुन खड़गे की अध्यक्षता में तीन सदस्यीय समिति का गठन किया था।