आतंक का पर्याय बना गुलदार चढ़ा वन विभाग के शिकारी के हत्थे, सुबह गुलदार ने किया महिला का शिकार। शाम को वन विभाग के शिकारी का बन गया शिकार।

देवप्रयाग विधानसभा क्षेत्र में गुलदार कई दिनों से सक्रिय था। महज तीन दिन पहले गुलदार ने दो अन्य महिला को मार चुका था। मंगलवार सुबह आदमखोर गुलदार ने उसी गांव की एक अन्य महिला को शिकार बना दिया। लगातर गुलदार का शिकार बन रहे मासूम ग्रामीणों में वन विभाग के खिलाफ काफी रोष था। ऐसे में वन विभाग आदमखोर गुलदार की तलाश में दिन रात डटा रहा और मंगलवार शाम को आदमखोर गुलदार को ढेर कर दिया। 


तीन दिन में गुलदार दुरोगी गांव की दो महिलाओं को मार चुका था। मंगलवार सुबह दुरोगी गांव निवासी मदन लाल की पत्नी गुंदरी देवी अन्य महिलाओं के साथ बकरी चराने घर से जंगल में गई थी। इस दौरान गुलदार ने गुंदरी देवी पर हमला कर दिया और उसे घसीटते हुए जंगल ले गया। साथ गई  महिलाओं ने जब शोर मचाया तो ग्रामीण आवाज सुनकर मौके पर पहुंचे लेकिन तब तक गुलदार गुंदरी देवी जंगल में ले जा चुका था।

सूचना पर वन विभाग के रेंज अधिकारी देवेंद्र पुंडीर, तहसीलदार एसएस कठैत और पुलिस कर्मी मौके पर पहुंचे। टीम ने महिला की तलाश की, टीम को कुछ ही दूर उसका अधखाया शव पड़ा मिला। इसके बाद वन विभाग के शिकारियों ने गुलदार की धरपकड़ तेज कर दी और शाम को गुलदार उसी स्थान पर लौट आया जहां पर उसने महिला का अदखाय शरीर छोड़ दिया था। वन विभाग का शिकारी जहीर बख्शी पूर्व से ही घात लगाकर आदमखोर का इंतजार कर रहा था और गुलदार के पहुंचते ही उसने आदमखोर को मार गिराया।