10 दिनों में 46  बच्चों के कोरोना संक्रमित मिलने से तीसरी लहर की आशंका हुई तेज। हर दिन पांच बच्चे हो रहे हैं कोरोना से संक्रमित।

मौजूदा आंकड़ों के अनुसार राज्य में हर दिन 05 बच्चे कोरोना संक्रमित मिल रहे हैं। यही वजह है कि सरकार स्कूलों को पुनः बन्द करने पर विचार कर रही है। पिछले दस दिनों में 46 बच्चे कोरोना संक्रमित मिले हैं। इन आंकड़ों के सामने आते ही कोरोना की तीसरी लहर की आशंकाएं बढ़ने लगी हैं। काशीपुर एलडी भट्ट राजकीय चिकित्सालय के बाल रोग विशेषज्ञ डॉ.राजीव पुनेठा का कहना है कि कोरोना संक्रमण की तीसरी लहर बच्चों को प्रभावित कर सकती है। लिहाजा, पांच साल से ऊपर के अपने बच्चे को मास्क पहने बिना घर से बाहर न जाने दें। साथ ही बच्चों को किसी भी भीड़-भाड़ वाले क्षेत्र में ले जाने से बचें।


पिछले दस दिनों में 46 बच्चे कोरोना की चपेट में आए हैं। इनमें 10 से 19 वर्ष तक के सर्वाधिक 37 बच्चे शामिल हैं। जबकि 0 से 9 वर्ष तक के नौ मासूम भी कोरोना संक्रमित मिले हैं। अब तक के राज्य में मिले कुल कोविड केसों की बात करें तो 0 से 9 वर्ष तक के 6162 बच्चे कोरोना पॉजिटिव हो चुके हैं। राज्य में अब तक 10 से 19 वर्ष तक के 26713 बच्चों को कोरोना अपनी चपेट में ले चुका है। 

अब अगर सरकार स्कूलों को बन्द नहीं करती है तो एक बार फिर बच्चों में संक्रमण दर बढ़ सकती है। हालांकि अभी तक बच्चों में कोरोना के गम्भीर दुष्परिणाम नहीं देखे जा रहें हैं लेकिन सावधानी ही सबसे बड़ी सुरक्षा है। कोरोना की पहली लहर के बाद इसको हल्के में लेना बहुत भारी पड़ा था। कहीं एक बार फिर से यह अनदेखी राज्य के बच्चों पर भारी न पड़ जाए।