मिजोरम के मुख्य सचिव लालनुनमाविया चुआंगो ने शुक्रवार को कहा कि असम की ओर से 29 जुलाई को जारी यात्रा परामर्श को गुरुवार रात को हटा दिया गया है।लेकिन फिर भी अभी तक दोनों राज्यों के बीच यातायात शुरू नहीं हुआ है।  उन्होंने कहा कि हमने इस मुद्दे को असम सरकार के सामने रखा है।  जल्द ही नाकेबंदी हटने की उम्मीद है।


असम सरकार ने गुरुवार को एक आदेश जारी कर मिजोरम न जाने की अपनी पूर्व की सलाह को वापस ले लिया था।  इसने कहा, "दोनों राज्यों की सरकारों के प्रतिनिधियों द्वारा जारी संयुक्त बयान के मद्देनजर 29 जुलाई की यात्रा सलाह (असम के लोगों को मिजोरम न जाने की सलाह) वापस ले ली गई है। मिजोरम के सीएम जोरमथांगा ने असम को धन्यवाद दिया था।  सरकार ने एडवाइजरी वापस लेने के लिए एक ट्वीट किया।

उन्होंने अपने ट्वीट में लिखा था कि असम सरकार को धन्यवाद क्योंकि असम सरकार ने असम के लोगों को मिजोरम न जाने के लिए जारी की गई यात्रा एडवाइजरी को वापस ले लिया।  26 जुलाई को विवादित सीमा क्षेत्र में दोनों राज्यों के पुलिस बलों के बीच हिंसक झड़प हुई थी। हिंसा में छह असम पुलिस कर्मियों और एक नागरिक सहित सात लोग मारे गए थे।  50 से अधिक लोग घायल हो गए।  इसके बाद केंद्र सरकार ने मामले में दखल दिया।