बदरीनाथ हाईवे पर श्रीनगर-डुगरीपथ के पास भूस्खलन से हाईटेंशन लाइन टूट गई, जिससे क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित है।

श्रीनगर-डुगरीपथ के पास भूस्खलन से हाईटेंशन लाइन टूट गई, जिससे क्षेत्र में बिजली आपूर्ति बाधित है। कई संपर्क मार्गों पर भूस्खलन के कारण मलबा आने से आवाजाही प्रभावित है। कल, उत्तरकाशी और टिहरी में कई संपर्क मार्गों पर दिनभर मलबा हटाने का कार्य चलता रहा। टिहरी झील के जलस्तर में भी इजाफा हुआ है। झील में पानी का जलस्तर 803 मीटर पहुंच गया है, जबकि चेतावनी रेखा 830 मीटर है। मौसम विभाग के अनुसार आज भी पर्वतीय इलाकों में तेज बौछारें पड़ने की आशंका है।


लेकिन पहाड़ में बारिश परेशानी बढ़ा रही है। पिथौरागढ़ जिले के मुनस्यारी और धारचूला तहसील क्षेत्र में गुरुवार रात भारी बारिश हुई। इससे थल-मुनस्यारी मार्ग पर वनिक गदेरा उफान पर आ गया। शुक्रवार को यहां से गुजर रही एक कार गदेरे के तेज बहाव में फंस गई। बड़ी मुश्किल से कार सवारों को बाहर निकाला जा सका। इधर, धारचूला में तवाघाट-सोबला- तिदांग मार्ग 51वें दिन भी बंद रहा। लिपुलेख मार्ग भी मलबा आने से बंद है। दारमा, चौदास की ओर व्यास घाटी से संपर्क शुक्रवार को भी अवरुद्ध रहा।