अपनी ही पार्टी की भूमिका पर राजकुमार ठुकराल ने खड़े किए सवाल। एक विवाद को शांत करवाने गए विधायक ने कहा, वो वो कारनामे किए हैं कि आज आप कल्पना भी नहीं कर सकते।

भाजपा से रुद्रपुर के वरिष्‍ठ विधायक राजकुमार ठुकराल का एक विडियो इंटरनेट मीडिया पर तेजी से वायरल हो रहा है। इस वायरल वीडियो में राजकुमार ठुकराल यह कहते हुए दिखाई दे रहें हैं कि, मैं पार्टी में सबसे ज्यादा पढ़ा लिखा विधायक हूँ। मैंने तीन विषयों में एमए किया है, आज तक लगातार 10 चुनाव लड़ा हूं और सभी 10 चुनावो में जीत दर्ज की है। बावजूद इसके आज तक मंत्री नहीं बन पाया, जबकि मुझसे जूनियर लोग सरकार में मंत्री बने बैठे हैं। उन्होंने कहा कि, इसका कोई और कारण नहीं ! बल्कि जो मैंने आज तक तांडव किया है यह उसी का नतीजा है। उनका कहने का मतलब है कि अगर मैं भी किसी की चापलूसी करता तो आज मैं भी आसानी से मंत्री बना होता। उन्होंने कहा कि यही एक कारण है जो आज मुझे किनारे कर दिया गया है। उनके इस वीडियो के बाद भाजपा की नीतियों पर कई सवाल खड़े हो गए हैं। क्या भाजपा में सिर्फ उसी को उन्नति मिलती है जो चमचागिरी करता है ? या फिर सिर्फ वही लोग आगे बढ़ाए जाते हैं जिनको संघियों का साथ प्राप्त होता है ?


दरअसल, दो अगस्त को रुद्रपुर में जिला पंयायत बोर्ड की बैठक में आयोजित थी। बैठक में जिलाधिकारी सहित कई अधिकारियों के न पहुंचने के कारण जिला पंयायत सदस्य जिलाधिकारी के खिलाफ कलक्ट्रेट परिसर में धरने पर बैठ गए। उनकी मांग थी कि जिलाधिकारी खुद ज्ञापन लेने धरना स्थल पर आएं। जबकि डीएम का कहना था कि जिसकी समस्या है वह खुद उनके पास अपनी शिकायत लेकर कार्यालय में आ सकते हैं। तनातनी के मामले में विधायक राजकुमार ठुकराल जिला पंचायत सदस्यों को समझाने पहुंच गए।

बस फिर क्या था राजकुमार ठुकराल ने जो बोलना शुरू किया तो फिर चुप ही नहीं हुए। अपनी वीर गाथा जिला पंचायत सदस्यों के सामने प्रस्तुत करते हुए ठुकराल ने कहा कि रुद्रपुर की जगतपुरा बस्ती को उनके चेयरमैन रहते उजाड़ दिया गया था, जिस पर उन्होंने सारी भीड़ लाकर डिस्ट्रीक्ट कोर्ट को श्‍मशान बना दिया। जिलाधिकारी की कुर्सी पर महिलाओं ने कब्जा कर लिया था। जिस कुर्सी पर भाई साहब बैठे हैं वहां पर भवान सिंह बिष्ट बैठा करते थे उसको तहस नहस कर दिया था। बहुत गंभीर मुकदमें दर्ज किए थे उनके खिलाफ... मैंने वो वो काम कर रखे हैं, कि पूछो मत। जितने प्रदर्शन मैंने कर रखे हैं किसी माई के लाल ने नहीं किए होंगे। बस फिर क्या था, बोलते बोलते विधायक जी अपने मंत्री न बन पाने की भड़ास तक पहुंच गए और उनका वीडियो वायरल हो गया। अब विधायक जी विवादों में हैं ।