शानदार परिणामों के बाद भी कक्षा 10 में 129 व कक्षा 12 में 509 छात्र-छात्रएं लटक गए। 

उत्तराखंड विद्यालयी शिक्षा परिषद के 10वीं और 12वीं का परीक्षाफल शनिवार को जारी हो गया। परीक्षाफल शिक्षा मंत्री अरविंद पांडेय ने बोर्ड ऑफिस में घोषित किया। शानदार परिणामों के बाद भी राज्य में 635 छात्र-छात्राओं का शनि भारी रहा और अनुत्तीर्ण हो गए। पंजीकृत होने के बाद जिन छात्रों ने न तो प्रैक्टिकल दिए और न ही ऑनलाइन कक्षा और टेस्ट दिए, उन छात्रों को अनुपस्थित दर्शाया गया। ऐसे भी कई छात्र रहे, जिन्होंने खुद परीक्षा देने से इनकार कर दिया। इन छात्रों ने दूसरे बोर्ड से परीक्षा दी है। 


आपको बता दें कोविड के चलते पिछली कक्षाओं में आए नंबर के हिसाब से बोर्ड ने शानदार रिजल्ट घोषित किया है। बावजूद इसके प्रदेश भर में 635 छात्र फेल हो गए। 1224 छात्रों का रिजल्ट पूरा नहीं हो पाया और1129 छात्र अनुपस्थित दर्ज हुए। कुल मिलाकर हाईस्कूल में 636 छात्र अनुपस्थित रहे, जबकि 126 फेल हो गए और 1199 का रिजल्ट पूरा नहीं हुआ है। वहीं इंटरमीडिएट में 509 छात्र फेल हो गए। 493 छात्र अनुपस्थित रहे और 25 का रिजल्ट पूरा नहीं हुआ। 

उत्तराखंड बोर्ड का परीक्षा परिणाम आने के बाद शोशल मीडिया पर कई तरह के पोस्ट देखे गये। फिल्मी डायलॉग के साथ एक पोस्ट लोगों को खूब पसन्द आई- "आज खुश तो बहुत होंगे तुम, 70-80% जो आए हैं ! भले कक्षा 9 में 40-45% ही सही" । ऐसे में 10वीं कक्षा के 129 और कक्षा 12वीं 509 छात्र-छात्राओं का शायद शनि ही भारी रहा होगा कि वे चूक गए।