जिम्दारियों से भाग रहे युवा, शारीरिक सुख के चक्कर मे अमर्यादित हुई रिश्तों की अहमियत। उत्तराखंड में आए दिन आम हो गई यौन अपराध से सम्बंधित खबरें।


दोस्ती, प्यार, सेक्स और धोखा। आज कल युवाओं को बस यही पसन्द आता है। पौड़ी गढ़वाल के कोटद्वार निवासी युवती ने पुलिस को बताया कि कुछ समय पहले उनकी मुलाकात एक युवक से हुई थी। दोनों की मुलाकात दोस्ती में बदल गई। फिर शुरू हुआ  प्रेम प्रसंग का चेप्टर और फिर शादी की बात शुरू हुई और दोनों की सगाई हो गई। युवती ने पुलिस को बताया कि उसने आरोपी "अर्पित" को घूमने के लिए एक सेकेंडहैंड कार भी दिलाई थी। सगाई होने पर युवती के परिवार ने सोने की चेन आदि सामान भी दिया। लेकिन सगाई होते ही अर्पित ने उससे शाररिक सम्बन्ध बनाने शुरू कर दिए। 

कोतवाली प्रभारी सीसी नैथानी के मुताबिक शादी की बात तय होने पर दोनों सुभाषनगर ज्वालापुर में साथ रहने लगे थे लेकिन अब युवती ने आरोप लगाया है कि अर्पित और उसके परिवार वाले उसके परिजनों से दहेज की मांग कर रहा है। युवती की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी अर्पित तिवारी समेत उसके पूरे परिवार के खिलाफ मुकदमा दर्ज कर लिया है। हालांकि यह साफ है कि युवक ने सगाई के बाद युवती के साथ शाररिक सम्बन्ध बनाने शुरू किए। यह भी हो सकता है  की इसमें युवती रजामंदी रही हो क्योंकि शादी से पहले दोनों एक साथ रह रहे  थे। अब क्या सच है क्या फसाना, यह न्याय व्यवस्था ही तय करेगी